लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद मतदान प्रक्रिया में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। एक न्यूज़ वेबसाइट ने दावा किया है कि चार राज्यों की कई सीटों पर कुल वोटिंग से ज्यादा वोट गिने गए।

न्यूज़ वेबसाइट ‘न्यूज क्लिक’ ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया है कि उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली और मध्य प्रदेश में कई सीटों पर कुल मतदान से ज़्यादा संख्या में हजारों वोट गिने गए। इन सीटों में तीन हाई प्रोफाइल सीटें भी शामिल हैं, जिनमें बिहार की पटना साहिब, जहानाबाद और बेगूसराय लोकसभा सीट है।

न्यूज क्लिक के साथ ही हाजीपुर लोकसभा सीट के आरजेडी उम्मीदवार शिवचंद्र राम ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर ये शिकायत की है कि हाजीपुर संसदीय क्षेत्र में मतदान से ज़्यादा वोटों को गिना गया। उन्होंने पत्र में दावा किया है कि 15422 वोट मतदान से अधिक गिने गए।

ख़ुलासाः बेगूसराय-बदायूं सहित चार राज्यों की कई सीटों पर मतदान से ज़्यादा गिने गए वोट

इससे पहले 21 मई को आरजेडी उम्मीदवार ने चुनाव आयोग को एक और पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने ईवीएम हेराफेरी का दावा किया था। शिवचंद्र राम ने पत्र में लिखा था कि आधी रात में लगभग डेढ़ घंटे तक स्ट्रॉन्ग रूम के अंदर और बाहर बिजली और जनरेटर बंद कर अंधेरा रखा गया था। उस दौरान हमने ईवीएम हेराफेरी की संभावना जताई थी।

उन्होंने लिखा, ‘अब जानकारी मिली है कि उसी रात ईवीएम की अदला बदली की गई। ईवीएम को बदलकर उन्हें हराने का काम किया गया है। इसलिए चुनाव को रद्द कर दोबारा कराया जाए’।

न्यू इंडिया! अखिलेश लड़कियों की सफलता पर लैपटॉप देते थे और हिंदू महासभा चाकू-तलवार दे रही है

आरजेडी उम्मीदवार के इस पत्र को आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्विटर पर शेयर किया है। उन्होंने इसे शेयर करते हुए लिखा, ‘लोकसभा हाजीपुर के अंतर्गत विधान सभा राघोपुर वोट पड़े 1 लाख 59 हज़ार गिनती हुई तो निकला 1 लाख 74 हज़ार इतने वोट ज़्यादा कहाँ से आ गया? क्या घपला है ये? चुनाव आयोग इस पर ख़ामोश क्यों हैं’?

बता दें कि विपक्षी दल मतदान प्रक्रिया को लेकर लगातार सवाल उठा रहे हैं। बदायूं से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव भी ज़्यादा मतों की गिनती को लेकर ज़िलाधिकारी से शिकायत कर चुके हैं। वहीं पटना साहिब से हारने वाले कांग्रेसी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी मतदान में गड़बड़ी का शक जताया था।