Samar Raj

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अक्सर ‘दूसरों’ के कामों का उद्घाटन करने यानी फीता काटने के आरोप लगते रहे हैं। अब उनके ऊपर दूसरे राज्य की तस्वीर को यूपी के ‘विकास’ की तस्वीर के तौर पर पेश करने के भी आरोप लग रहे हैं।

दरअसल, ‘द संडे एक्सप्रेस’ के पहले पन्ने पर योगी सरकार की तारीफ़ों से भरा एक विज्ञापन छपा है। इस विज्ञापन में बताया गया है कि कैसे योगी आदित्यनाथ के राज में प्रदेश बदल रहा है। उसमें 2017 के बाद से प्रदेश में हुए ‘विकास’ का ज़िक्र किया गया है। हालांकि, विज्ञापन बनाने वालों से एक गलती ये हो गई कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर के साथ कोलकाता के ‘विकास’ की तस्वीर लगा दी।

इसके बाद सपा और तृणमूल कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दल योगी सरकार पर हमलावर हो गए।

लोकसभा सांसद और तृणमूल कांग्रेस नेता महुआ मोइत्रा ने इस ख़बर पर चुटकी लेते हुए लिखा, “ठग योगी अपने यूपी विज्ञापनों में कोलकाता के एमएए फ्लाईओवर, जेडब्ल्यू मैरियट और हमारी प्रसिद्ध पीली टैक्सियों के साथ!

गुड्डुजी अपनी आत्मा बदलिए या कम से कम अपनी विज्ञापन एजेंसी!

अब मुझे नोएडा में अपने खिलाफ़ एफआईआर दर्ज होने की प्रतीक्षा है।”

यूपी में प्रमुख विपक्षी पार्टी सपा ने भी इस विज्ञापन पर सवाल उठाते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “मुख्यमंत्री के झूठ की फिर खुल गई पोल!

विज्ञापनों में जनता का पैसा पानी की तरह बहाने वालों के पास दिखाने के लिए अपना किया कोई काम नहीं, तो कोलकाता में हुए निर्माण की तस्वीर छापकर जनता को कर रहे गुमराह, शर्मनाक!

यह है झूठ बोलने में नंबर 1 भाजपा सरकार। जिसके दिन है बचे चार!”

मीडिया में इस विज्ञापन की जमकर आलोचना होने के बाद इसको प्रकाशित करने वाले अखबार ने स्पष्टीकरण दिया है।
उसके मुताबिक “मार्केटिंग विभाग द्वारा यूपी के विज्ञापन में गलत तस्वीर का इस्तेमाल किया गया। इसके लिए खेद है और तस्वीर को सभी डिजिटल संस्करणों से हटा दिया गया है।”

‘द संडे एक्सप्रेस’ को विज्ञापन के लिए रुपए मिले होंगे तो वो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बचाव करेगा ही। लेकिन इस गलती के कारण देश-प्रदेश में योगी सरकार जमकर फजीहत हो रही है। लोग अलग-अलग खूबसूरत जगहों की तस्वीरें शेयर करके यूपी के तमाम जिलों के नाम लिख रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 2 =