भारत में बढ़ रही महंगाई और बेरोजगारी ने आम जनता की मुसीबतों को दोगुना कर दिया है। एक तरफ महंगाई की मार और दूसरी तरफ बेरोजगारी होने के कारण लोग भुखमरी के कगार के पहुंच चुके हैं। इसी बीच खबर सामने आई है कि अमेरिका की कार बनाने वाली कंपनी फोर्ड अब भारत में काम नहीं करेगी।

फोर्ड ने इस फैसले का ऐलान कर डाला है कि वह भारत में अब काम नहीं करेंगे। क्योंकि इसे जारी रखना बिल्कुल भी लाभदायक नहीं है। दरअसल भारत में व्यापार काफी लंबे समय से मुश्किल दौर से गुजर रहा है। अमेरिका की वाहन निर्माता कंपनी फोर्ड ने देश में अपना उत्पादन बंद कर दिया है। जिससे की बड़ी तादाद में लोग बेरोजगार हो जाएंगे।

बता दें, वह भारत में अपना उत्पादन बंद करने वाली नवीनतम कार निर्माता कंपनी है। माना जा रहा है कि कोर्ट के इस फैसले से लगभग 4000 कर्मचारियों पर इसका असर पड़ेगा। इस मामले में मोदी सरकार एक बार फिर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है।

राष्ट्रीय लोक दल नेता प्रशांत कनौजिया ने इसी संदर्भ में मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि फोर्ड कार ने भारत में अपना उत्पादन बंद किया। कार बनाने, बेचने तथा सर्विसेज से जुड़े हजारों कर्मचारी हुए बेरोजगार। अब जब बेरोजगार हो गये हैं तो 900 का सिलिंडर और 110 का पेट्रोल तो चुटकी में खरीद लेंगे। मुसलमानों से नफरत के चलते देश बर्बाद कर देंगे मोदी और आरएसएस।

बताया जाता है कि भारत को छोड़कर जाने वाली वाहन निर्माता कंपनियों में फोर्ड तीसरी कंपनी है। इससे पहले जनरल मोटर्स और हार्ले डेविडसन ने भी भारत में व्यापार बंद करने का फैसला लिया था। दोनों कंपनियों ने यहां इसलिए उत्पादन शुरू किया था कि यहां पर बढ़िया ग्रोथ मिल सकती है। लेकिन उन्हें इसमें सफलता हासिल नहीं हुई। इसलिए उन्होंने भारत छोड़कर जाने का फैसला ले लिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 3 =