• 838
    Shares

आगरा में महागठबंधन (सपा-बसपा-आरएलडी) की संयुक्त रैली में सपा प्रमुख अखिलेश यादव, रालोद मुखिया चौधरी अजीत सिंह और बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने भाजपा पर जमकर हमला किया।

रैली में बोलते हुए अजीत सिंह ने कहा कि, “जो नफरत की राजनीति भाजपा ने मुजफ्फरनगर से शुरू की थी, ये गठबंधन की राजनीति ने वहीं से उसको खत्म कर दी।”

किसानों के मसीहा कहे जाने वाले चौधरी चरण सिंह के बेटे और केंद्र में कई बार मंत्री रहे अजीत सिंह ने मीडिया को भी घेरते हुए कहा कि, “आज मीडिया भी हिंदुस्तान-पाकिस्तान के अलावा कुछ नहीं दिखता। मीडिया गठबंधन की भीड़ नहीं दिखाता। मोदी की सभा की कम भीड़ को भी नहीं दिखाता। अब चोर का जमाना जाने वाला है और अच्छे दिन आने वाले हैं।

सबसे झूठा PM है मोदी, अगर ये श्रीलंका जाता तो कहता ‘रावण’ को मैने ही मारा है : अजीत सिंह

रैली में ‘चौकीदार चोर है’ के नारे भी लगाए गए। इसपर अजीत सिंह ने कहा कि मोदी के दिल में अडानी और अंबानी हैं। यह उनका चौकीदार है। यह अपने मन की बात करता हैं, जबकि ऐसा प्रधानमंत्री चाहिए जो दिल की बात करे। हमें चौकीदार नहीं नया प्रधानमंत्री चाहिए।

अजीत सिंह ने तल्ख़ तेवर में बोलते हुए आगे कहा कि, “नफ़रत की राजनीति ने ही मुज्जफरनगर से भाजपा को खत्म किया। हम पहले चरण की सारी सीटें जीत रहे हैं। अब दूसरे चरण की बारी है। प्रदेश से भाजपा का सफाया होगा। मोदी दिन में तीन बार सूट बदलते हैं और फिर कहते हैं कि मैं फकीर हूँ। मोदी दिल्ली छोड़कर नागपुर चले जाएं।”

चुनाव आयोग ‘दलित की बेटी’ पर रोक लगाती है लेकिन मोदी-शाह के सामने झुक जाती हैः BSP नेता

पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह ने कहा कि, “भाजपा का एक भी सांसद दिल्ली नहीं जाने वाला। आज कोई भी वर्ग खुश नहीं है। पहले लोगों को 15 लाख रुपए पहुँचाने का वादा किया अब केवल दो हजार रुपए दे रहे हैं। आज 45 वर्षों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। नौकरी मिल भी जाए तो नियुक्ति पत्र नहीं मिलता हाई कोर्ट रोक लगा देता है। यूपी में नौकरी नहीं मिलती। मोदी पकौड़े बनाने की सलाह देते हैं, उन्हें ऐसी लात मारो कि सीधे नागपुर में जाकर गिरें।”