बिहार के मुज्ज़फरपुर में चमकी बुखार से बच्चों की मौत का तांडव जारी है। अब मरने वाले बच्चों की संख्या 100 से ज्यादा हो गई है। ये संख्या लगातार बढ़ रही है, लेकिन सरकार और मंत्री अब भी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।

रविवार को केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सहित राज्य मंत्री अश्विनी चौबे मुज्ज़फरपुर के अस्पताल के दौरे पर थे लेकिन फिर भी हालात जस के तस बने हुए हैं।

बिहार की बीजेपी-जेडीयू सरकार और केंद्र सरकार बच्चों की बीमारी के रोकथाम को लेकर जो भी प्रयास कर रहे हैं वो कम साबित हो रहे हैं। वहीँ मासूम बच्चों की मौत पर राजद ने ट्वीट किया-

मरते बच्चे और बिलखते परिजनों की सुध चुनावों में ली जाएगी,

पहले सांसदों, मंत्रियों की सेना को बंगाल जीतने में लगाया जाए!

आपको बता दे कि बिहार में चमकी बुखार का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 100 के पार पहुंच गई है। अकेले मुजफ्फरपुर में इस बुखार से अभी तक 101 बच्चों की मौत हुई है, तो वहीं हाजीपुर में 11 मासूम की मौत हुई है।

सीएम नीतीश कुमार ने प्रत्येक मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। इससे पहले रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मुजफ्फरपुर का दौरा कर इस बीमारी से होने वाली मौतों का जायजा लिया था।