पंजाब और हरियाणा में किसान आंदोलन के चलते रिलायंस इंडस्ट्रीज के सामान का भी बहिष्कार किया जा रहा है। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के निशाने पर खास तौर पर रिलायंस जियो है।

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने रिलायंस जियो का बॉयकॉट करने की मांग भी उठाई थी। जिसके बाद से ही जियो के कस्टमर्स में भारी कटौती हुई है।

अब खबर सामने आ रही है कि पंजाब और हरियाणा में किसानों ने रिलायंस जियो के टॉवरों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है।

खबर के मुताबिक, पंजाब और हरियाणा में किसानों द्वारा रिलायंस जियो टावर के बिजली कनेक्शन काटे जा रहे हैं। अब तक इन दोनों राज्यों में 12 से ज्यादा रिलायंस जियो के बिजली कनेक्शन काटे जा चुके हैं।

बीते दिनों पंजाब के लुधियाना में भी किसानों द्वारा रिलायंस जियो का टावर उखाड़ कर फेंक दिया गया था। माना जा रहा है कि पंजाब और हरियाणा में जिस तरह से किसानों ने जियो का विरोध करना शुरू कर दिया है। उस हिसाब से कंपनी को बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है।

हाल ही में रिपोर्ट सामने आई है कि लगातार दो महीने से एयरटेल रिलायंस जियो को पिछाड़ रही है। यानी कि जियो के मोबाइल ग्राहकों में कमी आई है।

किसान आंदोलन के साथ टेलीकॉम सेक्टर में रिलायंस जियो और अन्य कंपनियों के बीच बिज़नेस वॉर शुरू हो गई है।

इसके साथ ही पंजाब और हरियाणा समेत कई शहराें में कॉरपोरेट कंपनियाें के खिलाफ किसान प्रदर्शन कर रहे हैं।

किसानों का कहना है कि तीनों कृषि कानूनों का फायदा सिर्फ चुनिंदा पूंजीपतियों को होगा। ये सरकार और पूंजीपति मिलकर पंजाब की कृषि भूमि पर कब्जा करना चाहते हैं।

वहीँ दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर बैठे किसानों का कहना है कि जब तक सरकार काले कानूनों को वापस नहीं लेगी। तब तक हम यहां से नहीं हटेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 − 3 =