दिल्ली में चल रही कृषि आंदोलन ने सरकार की नींदें भले ही ना उड़ाई हो। लेकिन मुकेश अंबानी के रिलायंस जियो की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। दरअसल सोशल मीडिया पर किसानों द्वारा रिलायंस जियो का बॉयकॉट करते हुए तस्वीरें शेयर की गई थी।

जिसके बाद बड़ी तादाद में आम जनता ने जियो के कनेक्शन बॉयकॉट करना शुरू कर दिया है। इससे रिलायंस ग्रुप तिलमिला गया है।

अब खबर सामने आ रही है कि रिलायंस जियो ने इस मामले में वोडाफोन आइडिया और एयरटेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

दरअसल रिलायंस जियो ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया को पत्र लिखा है। जिसमें वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के खिलाफ शिकायत की गई है।

इस पत्र में कहा गया है कि यह दोनों टेलीकॉम कंपनियां किसान आंदोलन की आड़ में अपना मुनाफा कमाने पर जोर दे रही हैं।

रिलायंस जियो ने TRAI को इस मामले में हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है। क्योंकि यह दोनों कंपनियां किसान आंदोलन को भुनाने के लिए अनैतिक तौर पर मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी अभियान चला रही हैं।

वोडाफोन-आईडिया और एयरटेल फायदे के लिए रिलायंस जियो को किसानों के खिलाफ बता रही है। खुद को किसान हितेषी के रूप में पेश कर रही हैं। रिलायंस जियो के साथ-साथ केंद्र सरकार के विरोध को भी इन कंपनियों द्वारा हवा दी जा रही है।

आपको बता दें कि किसानों ने सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध के साथ-साथ जियो के प्रोडक्ट्स को भी बायकाट करने का ऐलान कर दिया है। किसानों द्वारा उठाए गए इस कदम ने रिलायंस जियो को नुक्सान पहुंचाया है।

गौरतलब है कि किसान आंदोलन के चले अब देश की कई बड़ी कंपनियों के बीच टेलीकॉम वॉर शुरू हो गई है।

किसानों की रोजी-रोटी छीनने वाले पूंजीपतियों की अपनी कंपनियों को नुक्सान पहुंचा है। तो उन्होंने दूसरी कंपनियों पर आरोप लगाने शुरू कर दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × three =