उत्तर प्रदेश में सातवें चरण लिए के 9 जिलों की 54 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो के हवाले से उत्तर प्रेदश चुनाव में गुजरात पुलिस की ड्यूटी लगाने का दावा किया गया है। इस वीडियो के सामने आने के बाद लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया आ रही हैं।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है “क्या यूपी चुनाव में खुलेआम धाँधली की तैयारी चल रही है? गुजरात पुलिस चुनाव ड्यूटी पर है और योगी को जीताने आई है। हरियाणा दिल्ली, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार, राजस्थान का बॉर्डर यूपी से लगता है तो गुजरात से पुलिस की वर्दी में ट्रेंड BJP वर्कर क्यों बुलाये गये हैं?” संजय सिंह ने भाजपा पर यूपी चुनाव में गुजरात पुलिस द्वारा वाराणसी में मतदान को प्रभावित करने का आरोप लगया है।

इससे पहले किसान नेता योगेंद्र यादव ने भी इस वीडियो को ट्वीट करते हुए यूपी चुनाव में गुजरात पुलिस की ड्यूटी लगाने को लेकर चुनाव आयोग से सवाल पूछा है। उन्होंने चुनाव अयोग को टैग करते लिखा है, ”देखिए! यह गुजरात पुलिस है जो यूपी में चुनाव संपन्न करने आई है। यह वीडियो आज 6 मार्च का है, नारायणपुर,जिला मिर्जापुर से वाराणसी मार्ग पर। अब चुनाव आयोग का क्या कहना है?”

रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह ने भी उत्तर प्रदेश चुनाव में गुजरात पुलिस की तैनाती पर सवाल उठाया है। अपने ट्वीट में चुनाव आयोग और वाराणसी डीएम को टैग करते हुए पूर्व आईएएस ने लिखा है, ‘बनारस में गुजरात पुलिस की उपस्थिति (नारायणपुर, मिर्जापुर से बनारस मार्ग) की सूचना वायरल है। सेंट्रल फोर्सेज की पर्याप्त संख्या होने के बाबजूद, अन्य राज्यों की पुलिस की क्या आवश्यकता आ पड़ी? स्टील फ्रेम इतना भी चरमराना नहीं चाहिए।’

वहीं वाराणसी डीएम ने इन सभी आरोपों को अफवाह बताते हुए खारीज किया है। जिलाधिकारी ने पूर्व आईएएस और योगेंद्र यावद के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा है “कृपया अफवाह ना फैलायें। गुजरात पुलिस की कोई भी कंपनी वाराणसी जनपद में निर्वाचन ड्यूटी या किसी अन्य ड्यूटी के लिए नहीं आई है।”

जिलाधिकारी के इसी बयान को आधार बनाकर सरकारी फैक्ट चेकर संस्था पीआईबी ने योगेंद्र यादव के ट्वीट को भ्रामक बताया है।

 

जिलाधिकारी के जवाब पर प्रतिक्रिया देते हुए योगेंद्र यादव ने लिखा है, महोदय कृपया अफवाह फैलाने का आरोप लगाने से पहले मेरे ट्वीट को पढ़ लें, कहीं वाराणसी जनपद का जिक्र नहीं है।
मैने साबित किया है कि आज के मतदान में गुजरात पुलिस बुलाई गई है। गुजरात पुलिस के पुलिसकर्मी वीडियो पर “आएगा तो योगी ही” कह रहे हैं। चुनाव आयोग के पास इसका जवाब क्या है?

अपने ट्वीट में योगेंद्र यादव ने दो तस्वीरों को भी साझा किया है। पहली तस्वीर अखबार का एक टुकड़ा है, जिसमें गुजरात पुलिस के उत्तर प्रदेश में कमान संभालने की खबर है। दूसरी तस्वीर उत्तर प्रदेश के सरकार बस की है। बस पर कई पर्चे चिकपे हैं। एक पर्चे पर लिखा है- चुनाव ड्यूटी SAP 1145 C गुजरात पुलिस।

इसके अलावा मिर्जापुर पुलिस ने भी ट्वीट कर गुजरात पुलिस की तैनाती को स्वीकार किया है। मिर्जापुर पुलिस ने योगेंद्र यादव के ट्वीट के कमेंट बॉक्स में लिखा है, ‘उक्त ट्वीट के सम्बन्ध में अवगत कराना है कि उक्त आरक्षी को ड्यूटी प्वाइंट से हटा दिया गया है तथा आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।’

 

मिर्जापुर पुलिस के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए योगेंद्र यादव ने लिखा है, लीजिए, मुझपर अफवाह फैलाने वालों को यूपी पुलिस का मुंहतोड़ जवाब! मिर्जापुर पुलिस ने मान लिया कि गुजरात पुलिस आज चुनाव में तैनात है, मेरी ट्वीट के बाद “उक्त आरक्षी” को हटाया गया। वैसे इतने संवेदनशील चुनाव में गुजरात पुलिस का क्या काम?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =