नए साल के मौके पर भाजपा शासित मध्यप्रदेश के इंदौर में कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी का एक स्टैंड अप कॉमेडी शो आयोजित किया गया था।

लेकिन इस शो में उनकी परफॉरमेंस से पहले ही हिन्दू समाज की भावनाएं आहत करने के आरोप में कॉमेडी शो के आयोजक और कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को जबरदस्ती हिरासत में लिया गया।

मुनव्वर फारुकी पर देश के गृहमंत्री अमित शाह और हिंदू देवी देवताओं को लेकर अभद्र टिप्पणी किए जाने के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है।

16 जनवरी को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ में इस मामले में सुनवाई होनी थी। लेकिन पुलिस द्वारा केस डायरी पेश नहीं की गई। जिसके चलते मुनव्वर फारूकी की जमानत याचिका पर एक हफ्ते के लिए सुनवाई टाल दी गई।

अब खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश में मुनव्वर फारुकी के खिलाफ दर्ज केस में प्रोडक्शन वारंट जारी कर दिया गया है। प्रयागराज पुलिस ने प्रोडक्शन वारंट इंदौर सीजेएम कोर्ट और जेल में पेश किया है।

इस मामले में पत्रकार विनोद कापड़ी ने मोदी सरकार और गोदी मीडिया पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा- “Munawar Faruqui का सबसे बड़ा अपराध ये है कि वो मुसलमान है और बिना अपराध के जेल में है और Pulwama Attack पर खुश होने वाला देशद्रोही, टुकड़े टुकड़े गैंग का सरग़ना सुपारी संपादक खुला घूम रहा है।”

आपको बता दें कि प्रयागराज के जॉर्ज टाउन थाने में आशुतोष मिश्रा नाम के एक युवक ने मुनव्वर फारुकी के यूट्यूब चैनल पर अपलोड की गई एक वीडियो को आधार बनाकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी।

इस वीडियो में मुनव्वर फारुकी हिन्दू देवी देवताओं और गोधरा ट्रेन कांड में मरने वाले हिंदुओं का मजाक उड़ाते हुए देखे गए हैं।

एक मुस्लिम होने के नाते भी मुनव्वर फारुकी पर आरोप लगे हैं कि हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की गई है, शायद इसीलिए वो तमाम कट्टर हिंदूवादी संगठनों के निशाने पर थे। उनकी वीडियो का काफी विरोध भी हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − three =