noam chomsky
Noam Chomsky

अमेरिका के विचारक व प्रोफेसर नोम चॉम्स्की ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कोरोना संक्रमण से हजारों अमेरिकियों की मौत के लिए ट्रंप को सीधे तौर पर ज़िम्मेदार ठहराया है।

अंग्रेज़ी अख़बार द गार्जियन को दिए इंटरव्यू में चॉम्स्की ने आरोप लगते हुए कहा कि ट्रंप ने चुनावी फायदा उठाने और कारोबारियों की जेब भरने के लिए अमेरिकियों की जान दांव पर लगा दी। उन्होंने कहा कि ट्रंप देश का रक्षक बनने का नाटक कर रहे थे, जबकि असल में वो आम अमेरिकियों की पीठ में छुरा भोंक रहे थे।

चॉम्स्की ने कहा कि ट्रंप दोबारा अमेरिका का राष्ट्रपति बनने का सपना देख रहे हैं, इसीलिए उन्होंने अमीर कारोबारियों को खुश करने के लिए हेल्थकेयर और संक्रामक बीमारियों के रिसर्च की फंडिंग में कटौती करने जैसे कदम उठाए।

इतना ही नहीं चॉम्स्की ने अमेरिका ही नहीं दुनिया के कई मुल्क में कोरोना के चलते हुई मौतों के पीछे ट्रंप के फैसले को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की फंडिंग रोकने का ट्रंप का फैसला यमन और अफ्रीकी महाद्वीप में भी कई लोगों की जानें ले लेगा।

इस दौरान चॉम्स्की ने यूरोपीय संघ (ईयू) को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान ईयू ने अपनी जिम्मेदारियों को नहीं निभाया। उन्होंने कहा कि इटली और स्पेन जब कोरोना महामारी के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे थे तो ईयू से उन्हें उम्मीद के मुताबिक़ मदद नहीं मिल सकी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + 3 =