उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था किस तरह से ध्वस्त हो चुकी है, इसकी एक बानगी सोनभद्र में देखने को मिली। ज़िले के घोरावल गांव में ज़मीन पर कब्ज़े को लेकर भू-माफियाओं ने बुधवार की दोपहर तीन महिलाओं समेत नौ आदिवासियों की गोली मारकर हत्या कर दी।

घटना ज़िले के घोरावल की ग्रामसभा मुर्तिया के उम्भा गांव की है। जानकारी के मुताबिक, ग्राम प्रधान यज्ञ दत्त ने 2 साल पहले उम्भा गांव में 90 बीघे जमीन खरीदी थी। 17 जुलाई को ग्राम प्रधान अपने समर्थकों के साथ जमीन पर कब्जा करने पहुंचा। आदिवासियों ने इसका विरोध किया तो प्रधान पक्ष ने फायरिंग शुरू कर दी।

फायरिंग में मरने वालों में 6 पुरुष और 3 महिलाएं हैं। जबकि इस फायरिंग में दो दर्जन से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं। गंभीर रूप से तीन घायलों को बनारस रेफर कर दिया गया। सूचना मिलने पर एसपी सोनभद्र पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। जिसके बाद मौके पर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी, सलमान ताज पाटिल के अनुसार, ग्राम प्रधान यज्ञवत्त भुरकियां की जमीन पर ग्रामीणों का कब्जा था। मंगलवार को प्रधान यज्ञवत्त भुरकियां कई ट्रैक्टरों में लोगों को भरकर वहां पहुंचा और खेत जोतने लगा। जब ग्रामीणों ने इसका विरोध किया तो प्रधान और उसके लोगों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमें आठ से दस लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। प्रधान फरार है। उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है।

इस मामले को लेकर अफसोस ज़ाहिर करते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने सूबे की भाजपा सरकार पर ज़ोरदार हमला बोला है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या इस तरह से उत्तर प्रदेश अपराध मुक्त प्रदेश बनेगा?

प्रियंका ने ट्विटर के ज़रिए कहा, “भाजपा-राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है। सोनभद्र के उम्भा गाँव में भू माफियाओं द्वारा 3 महिलाओं सहित 9 गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया। प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं। क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश?”