• 6K
    Shares

देश में एक बार फिर आतंकी हमला हुआ है, इस बम धमाके में अबतक 30 CRPF जवानों के मारे जाने की ख़बर है।

पुलिस के अनुसार 2500 से ऊपर जवानों को आतंकियों ने निशाना बनाया था फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है। कांग्रेस का मानना है मोदी सरकार में ये 18वां आतंकी हमला है वहीं हमले को 30 सालों में सबसे बड़ा हमला करार दिया है।

एक तरफ जहां पूरे देश शोक में डूबा था वहीँ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक में राम मंदिर निर्माण को लेकर भाषण दे रहे थे। यहां उन्होंने कहा कि मैं सबको यकीन दिलाना चाहता हूँ हम अयोध्या में राममंदिर बनाकर रहेंगें।

दूसरी तरफ कल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले के चलते प्रेस कांफ्रेंस रद्द कर दी थी। प्रियंका प्रेस के सामने आई तो कहा ये प्रेस कांफ्रेंस वैसे तो हमने राजनीति चर्चा के लिए बुलाई थी।

पुलवामा हमले के बाद प्रियंका गांधी ने रद्द कर दी थी प्रेस कांफ्रेंस लेकिन अमित शाह राममंदिर पर देते रहें ‘भाषण’

मगर आज जम्मू कश्मीर में शहीद हुए जवानों के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं, दुख प्रकट करती हूं। उनके परिवारों की वेदना मैं अच्छी तरह समझती हूं। मैं जानती हूं इस शोक की घड़ी में सांत्वना के शब्द पर्याप्त नहीं होते, फिर भी शहीद परिवार के पीछे न केवल कांग्रेस बल्कि पूरा देश खड़ा है।

गौरतलब हो कि एजेंसी ANI के अनुसार आतंकियों ने CRPF के काफिले पर आईईडी से हमला किया। इसके बाद फायरिंग भी की। बताया जा रहा है कि इस काफिले में करीब 70 गाड़ियां शामिल थीं, जिनमें करीब 2500 जवान सवार थे। आतंकियों ने सुरक्षा बलों की एक गाड़ी को निशाना बनाया।

पुलवामा हमले पर भड़कीं प्रियंका चतुर्वेदी, बोलीं- हमारे जवान शहीद हो रहे हैं लेकिन भाजपा ‘How’s the josh’ की मार्केटिंग में व्यस्त है

बता दें कि पुलवामा में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस एनकाउंटर में सेना का जवान शहीद हुआ था, जबकि एक जवान घायल हुआ था। इससे पहले भी उरी सेक्टर में कुछ संदिग्धों को देखा गया था।