सच को सबसे आगे बताने वाला भारतीय मीडिया सरकार के पक्ष में किस तरह से फेक ख़बरें चलाता है, इसका ख़ुलासा बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधते हुए किया है।

उन्होंने दावा किया है कि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की फेक आईडी ब्रिगेड मीडिया में फेक ख़बरें प्लांट कराती हैं।

ये दावा उन्होंने चीनी मीडिया से भारतीय मीडिया की तुलना करते हुए एक ट्वीट के ज़रिए किया।

स्वामी ने लिखा, “चीनी और भारतीय मीडिया में सबसे बड़ा अंतर यह है कि चीन की सरकार सही खबरों को भी डिलीट करवा देती है जबकि भारत में पीएमओ की फेक आईडी ब्रिगेड गलत खबरें प्लांट करा देती है”।

स्वामी के इस दावे ने भारतीय मीडिया की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े कर दिए हैं। भारतीय मीडिया पर पहले से ही सरकार के पक्ष में ख़बर चलाने के आरोप लगते रहे हैं।

अब स्वामी के दावे के बाद ये सवाल भी उठ रहे हैं कि क्या मीडिया को सरकार के लिए माहौल तैयार करने में फेक ख़बरों का सहारा भी लेना पड़ता है?

ग़ौरतलब है कि स्वामी विदेश नीतियों और पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों को लेकर अपनी ही सरकार को घेरते रहे हैं। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने LAC विवाद को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा किया था।

स्वामी ने ट्वीट कर लिखा था, “विदेश मंत्रालय ने पहले कहा था कि चीनी सेना पीएलए ने कभी भी एलएसी पार कर भारतीय सीमा में प्रवेश नहीं किया है।

लेकिन अब विदेश मंत्रालय कह रहा है कि भारत सरकार ने कूटनीतिक स्तर पर बड़ी जीत हासिल की है। चीनी सेना ने भारतीय क्षेत्र से वापसी शुरू कर दी है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा था कि क्या दोनों चीजें सही हो सकती हैं”।

वहीं पेट्रोल डीज़ल के बढ़ते दामों को लेकर उन्होंने केंद्र सरकार पर तंज़ कसते हुए ट्वीट कर लिखा था, “राम के भारत में पेट्रोल 93 रुपये, सीता के नेपाल में 53 रुपये और रावण की लंका में पेट्रोल 51 रुपये है”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − eleven =