देश में कोरोनावायरस की वजह से हालात काफी बिगड़ चुके हैं। जहां इस खतरनाक संक्रमण की वजह से कई लोगों की जान जा चुकी है। वही सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के कारण लाखों लोगों की नौकरी जा चुकी है।

ऐसे में पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक को लेकर चल रहे विवाद पर अब लोगों ने सड़कों पर आकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। मुंबई में PMC बैंक के खाताधारकों ने मिलकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

दरअसल पीएमसी बैंक के 9 लाख खाताधारकों के पैसे फंसे हुए हैं। मोदी सरकार इस संदर्भ में कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। एक तो लोग कोरोना महा संकट में एक तो अपनी नौकरियां खो चुके हैं। दूसरा, लोग अपने ही डिपाजिट पैसे को निकलवा नहीं पा रहे हैं।

आपको बता दें कि बीते 11 महीनों से लोगों का पैसा पीएमसी बैंक में अटका हुआ है। आज लोगों ने मुंबई में आरबीआई के दफ्तर के सामने प्रदर्शन करते हुए थाली पीटते हुए यह सवाल किया है कि उनका पैसा उन्हें वापस कब दिया जाएगा। इन लोगों की मांग है की आरबीआई के अधिकारी उनसे बात करें। उनकी परेशानी को हल करें।

सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए लोग ताली और थाली बजाते हुए नजर आ रहे हैं। इनकी मांग यही है कि इन्हें इंसाफ दिया जाए।

लोगों का कहना है कि उनके पास इलाज करवाने, किराया भरने यहां तक की राशन लेने तक के पैसे भी नहीं बचे हैं। ऐसे में हम कहां जाएं। 11 महीने से हमारा पैसा डूबा हुआ है। हम कहां से खाएं और कहां से किराया दे।

प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान पीएम मोदी पर खूब गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री कहां सो रहे हैं और कहां जग रहे हैं, हमें कुछ मालूम नहीं है। आम जनता रो रही है और सरकार देश का नाम ऊंचा करने की बात कह रही है।

गुस्साए लोगों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हम से आकर पूछे कि हमारी क्या हालत हो रही है।

गौरतलब है कि यह बहुत बड़ा सवाल है कि इन लोगों के लिए सरकार आखिर क्यों कुछ नहीं कर रही है। लोगों का कहना है कि हमें यह बताया जाए कि हमारे पैसे के लिए कौन सा बैंक सुरक्षित है। क्योंकि एक के बाद एक कई बैंक विवादों में फंसते जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two + 14 =