pankhuri pathak
Pankhuri Pathak
  • 5.5K
    Shares

असम में नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) का विरोध कर रहे लोगों पर अब पुलिस ने फायरिंग शुरु कर दी है। ख़बर है कि पुलिस की फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई।

न्यूज़ पोर्टल ईस्ट मोजो के मुताबिक, पुलिस फायरिंग की दो अलग घटनाओं में इन दोनों की मौत हुई। एक घटना लचित नगर की तो दूसरी हटीगांव की बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में इन दोनों को गोली लग गई थी। जिसके बाद इन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां इन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

CAB का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने बरसाई गोलियां, दो की मौत

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने भी इस बारे में जानकारी दी है। एजेंसी के मुताबिक, नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध कर रहे दो लोगों की गोली लगने से मौत हो गई। ऐजेंसी ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि इन दोनों को गोली लगने के बाद गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान इनकी मौत हो गई।

पुलिस फायरिंग में हुई मौतों पर कांग्रेस प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए लिखा- CAB ने पहले ही दिन तीन जानें ली। असम में 3 आँदोलनकारियों को पुलिस ने गोली मारी। हत्यारों के हाथ में देश दिया है, कीमत जान से चुकानी ही पड़ेगी।

बता दें कि दोनों सदनों में नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद पूर्वोत्तर राज्यों में इसका विरोध बढ़ गया है। कई जगहों से हिंसा, आगज़नी और तोड़फोड़ की ख़बरें सामने आ रही हैं। बिल का विरोध कर रहे लोग बीजेपी के नेताओं और उनके दफ्तरों पर भी हमला कर रहे हैं।

बिल को वापस लिए जाने की मांग के साथ इमारतों, बसों और मोटरसाइकिलों को आग के हवाले किया जा रहा है। लेकिन सरकार प्रदर्शनकारियों की मांग सुनकर विरोध को ख़त्म करने के बजाए उनपर गोलियां बरसा कर विरोध पर पूर्णविराम लगाने की कोशिश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here