• 4.4K
    Shares

स्वतंत्रता दिवस के ठीक एक दिन पहले यानी 14 अगस्त को पहलू खान की मॉब लिंचिंग मामले में आए फैसले ने सबको हैरान कर दिया। जिसके हत्यारों को पूरे पूरी दुनिया ने देखा, उनको कोर्ट ने दोषी मानने से इनकार कर दिया ।

छह हत्यारोपियों को बरी कर दिए जाने के बाद तमाम लोग लिखने और बोलने लगे कि अब इस देश में न्याय की उम्मीद करना बेमानी है।

अब बीबीसी हिंदी की एक वीडियो रिपोर्ट के मुताबिक, पहलू खान की पत्नी ने कहा है कि कोर्ट की ओर से हमें न्याय की उम्मीद थी लेकिन हमारे साथ न्याय नहीं हुआ।

इसके साथ ही पहलू खान के बेटे ने भी इसपर प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि पूरी दुनिया ने मारते हुए देखा, फिर भी आरोपियों को बरी कर दिया गया, ये हम कैसे बर्दाश्त कर लें।

उन्होंने आगे कहा कि ऐसा फैसला सुनकर हम मर जाएं तब ही बेहतर है, क्या करेंगे ऐसे हिंदुस्तान में रहकर जहां पूरी दुनिया ने मारते हुए देखा फिर भी आरोपी निर्दोष हो गए।

इस फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए बचाव पक्ष के वकील हुकुमचंद शर्मा ने कहा- ये एक बहुत बड़ा फैसला है। इससे न्यायपालिका की गरिमा बढ़ी है, इससे न्यायपालिका पर भरोसा बढ़ा है।

एक ही मामले में एक पक्ष बुरी तरह से हताश है, निराश है तो दूसरा पक्ष उत्साहित है।

तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दूसरे पक्ष यानी बचाव पक्ष ने जश्न भी मनाया और भारत माता की जय के नारे भी लगाए।

हालांकि इस जश्न और नारी के बीच सवाल बार-बार गूंज रहा है कि फिर पहलू खान की हत्या किसने की।
इस मामले का सबसे शर्मनाक पहलू ये भी है कि सबको पता है,- पहलू खान की हत्या किसने की।

साभार- बीबीसी न्यूज़ हिंदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here