रेप और अपहरण के आरोपी स्वामी नित्यानंद ने भारत से फरार होने के बाद अपना एक देश बसा लिया है। नित्यानंद ने अपने देश का नाम कैलासा रखा है। जिसे सिर्फ हिंदुओं के लिए बसाया गया है।

ख़बरों के मुताबिक, नित्यानंद ने दक्षिणी अमेरिका में इक्वाडोर (Ecuador) में एक द्वीप खरीदकर स्वघोषित हिंदू राष्ट्र की स्थापना की है। उसने अपने देश के लिए नया ध्वज, नया संविधान तथा नया प्रतीक चिह्न भी तय कर लिया है। इस बात की जानकारी उसने अपनी वेबसाइट Kailaasa.org के ज़रिए दी है। हालांकि वेबसाइट में देश को लेकर किए गए दावों की अभी पुष्टी नहीं हो सकी है।

वेबसाइट के मुताबिक, भगोड़े नित्यानंद के देश में प्रधानमंत्री और मंत्रिमंडल भी है। वेबसाइट में बताया गया है कि नित्यानंद द्वारा बसाया गया ये देश धरती पर हिंदुओं का महान देश। जिसे अपना अधिकार खो चुके हिंदुओं के लिए ही बसाया गया है। वेबसाइट के ज़रिए इस देश की मदद के लिए चंदे का भी आह्वान किया गया है।

वेबसाइट में दावा किया गया है कि कैलासा अभियान की शुरुआत अमेरिका में हुई, और इसकी अगुवाई वही हिंदू आदि शैव अल्पसंख्यक समुदाय कर रहा है, जिसके लिए इसकी स्थापना हुई है, और यह समूची दुनिया के सताए हुए हिन्दुओं और हिन्दू बनने के इच्छुक लोगों के लिए सुरक्षित स्थान है।

बता दें कि गुजरात पुलिस की ओर से नित्यानंद को ढूंढने की कोशिश तो की जा रही है, लेकिन सूत्रों की मानें तो अभी तक इंटरपोल से संपर्क नहीं किया गया है। नित्यानंद पर कर्नाटक में दुष्कर्म और अपहरण का मामला दर्ज है, तो वहीं गुजरात में उत्पीड़न को लेकर केस दर्ज हैं। 22 नवंबर को ही गुजरात पुलिस ने अहमदाबाद में नित्यानंद के आश्रम में छानबीन भी की थी।