अब नेपाल ने भारत के इन हिस्सों पर ठोका दावा

एक तरफ जहां भारत का चीन के साथ विवाद चल रहा है। वही चीन के इशारे पर अब नेपाल ने भी भारत के कई हिस्सों पर अपना दावा ठोका है। भारत के राज्य उत्तराखंड के देहरादून नैनीताल समेत हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार और सिक्किम के कई शहरों को नेपाल अपना हिस्सा बता रहा है।

इस मामले में नेपाल की सरकार ने एक अभियान चलाया है। जिसे ग्रेटर नेपाल का नाम दिया गया है। इस अभियान के तहत नेपाल भारत के कई प्रमुख शहरों पर अपना दावा ठोक रही है।

गौरतलब है कि तीन महीने पहले नेपाल द्वारा नया राजनीतिक नक़्शा जारी करने के बाद से ही दोनों देशों के बीच ये विवाद शुरू हुआ है। दरअसल नेपाल भारत के कई शहरों को अपना बनाने के लिए साल 1816 में हुई सुगौली संधि से पहले की तस्वीर शेयर कर यह दावा कर रहा है।

बताया जा रहा है कि नेपाल के इस अभियान के साथ विदेशों में रहने वाले नेपाली युवा भी भारी संख्या में जुड़ रहे हैं। भारत के खिलाफ इस अभियान को चलाने के लिए फेसबुक पर ग्रेटर नेपाल नाम का एक पेज भी बनाया गया है। वही यूट्यूब पर ग्रेटर नेपाल के नाम से बनाए गए 1 चैनल पर नेपाल के अलावा पाकिस्तान के युवा भी भारत के खिलाफ भड़काऊ बातें कह रहे हैं।

माना जा रहा है कि नेपाल द्वारा भारत के कुछ हिस्सों पर दावा किए जाने के पीछे चीन का समर्थन है। दरअसल भारत के साथ चीन के रिश्ते बिगड़ने के बाद नेपाल ने काला पानी मुद्दे को फिर से हवा दी है।

दरअसल नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली पर चीन के इशारों पर काम करने के आरोप भी लग चुके हैं। माना जा रहा है कि चीनी सरकार ने नेपाल के प्रधानमंत्री को कई मिलियन डॉलर की रिश्वत दी है। चीन ऐसा करके नेपाल सरकार को भारत के खिलाफ उकसाने का काम कर रही है। ग्लोबल वॉच एनालिसिस की हाल ही में आई एक रिपोर्ट इस बात का दावा किया गया है कि के पी शर्मा ओली की संपत्ति पिछले कुछ सालों में कई गुना बढ़ गई है। इसके अलावा उन्होंने विदेशों में संपत्तियां खरीदी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − seven =