गुरुवार शाम कैबिनेट के लिए सभी मंत्रियों ने शपथ ले ली है। लेकिन लोकसभा चुनाव नतीजे आए अभी 10 दिन भी नहीं हुए हैं कि EVM पर बवाल जारी है। द क्विंट की खबर के अनुसार 373 चुनावी क्षेत्रों मे वोटों की गिनती मे असंतुलन देखने को मिला है। इन सीटों पर पहले चार चरणों में मतदान किया गया था।

चुनाव आयोग के मुताबिक तमिल नाडू की कांचीपुरम सीट पर 12,14,086 EVM वोट डाले गए। जबकि 12,32,417 EVM वोटों की गिनती की गई। यानी 18,331 अतिरिक्त EVM वोट। धर्मापुरी मे 11,94,440 EVM वोट डाले गए जबकि 12,12,311 EVM वोटों की गिनती की गई। 17,871 अतिरिक्त EVM वोट। श्रीपेरुमबुदुर मे भी 14,512 अतिरिक्त EVM वोट पाए गए। चुनाव आयोग के अनुसार इस सीट पर 13,88,666 EVM वोट पड़े और 14,03,178 EVM वोटों की गिनती की गई है।

GDP में आई गिरावट पर संजय सिंह ने कसा तंज़, कहा- भूखे पेट मर जायेंगे, पर मंदिर वहीं बनायेंगे

इसके अलावा उत्तर प्रदेश मे भी वोटों की गिनती मे हेरा-फेरी देखी गई है। चुनाव आयोग का हवाला देते हुए बताया गया कि मथुरा मे 10,88,206 डाले गए। जबकि 10,98,112 EVM वोट गिने गए हैं। 9,906 वोट कहा चले गए? बता दें मथुरा से अभिनेत्री हेमा मालिनी सांसद चुनी गई हैं। उन्हें 6,67,342 वोट मिले हैं।

बिहार के औरंगाबाद से बीजेपी के सुशील कुमार सिंह ने बाज़ी मारी। इस सीट पर 9,30,758 EVM वोट डाले गए। इसके विपरीत 9,39,526 EVM वोटों की गणना की गई। यानी 8768 ज्यादा वोटों का फरक।

अतिरिक्त वोटों की गिनती के अलावा वोटों के असंतुलन मे कमी देखने को भी मिली है। त्रिपुरा वेस्ट चुनावी क्षेत्र मे 11,21,138 वोट डाले गए। 11,01,362 EVM वोट गिने गए। ये करीब 19776 वोटों की कमी को दर्शाता है।

कोंझार मे 11,84,697 EVM वोट डाले गए और 11,73,526 EVM वोट गिने गए। यहाँ भी 11171 वोटों की कमी को देखा जा सकता है। भुबनेश्वर मे 11011754 वोट पड़े। जबकि 1003704 वोटों की गिनती हुई। गिनती के बाद 8050 EVM वोट कही गायब हो गए।

कर्नाटक निकाय चुनाव में कांग्रेस की जीत पर बोले मंडल- सिर्फ EVM की वजह से होती BJP की लहर

चुनाव आयोग के किसी भी अधिकारी ने जवाब देने पर चुप्पी बाँध ली है। EVM मे खराबी की खबरें अब आम हो चली हैं। लेकिन चुनाव आयोग कोई भी कदम उठाने से हिचकिचा रहा है। ये अतिरिक्त वोट आए कहाँ से या गायब क्यों हो गए?

इसका जवाब देने से चुनाव आयोग से खुद को पीछे कर लिया है। खैर बीजेपी के लिए 17वां लोकसभा चुनाव यादगार रहा। बीजेपी को एतिहासिक 303 सीटों पर जीत मिली। लेकिन EVM मे खराबी हर बार इस जीत पर शक पैदा कर देती है।