• 4.9K
    Shares

बिहारः गया के पटवाटोली इलाक़े में 6 जनवरी को संजना (बदला हुआ नाम) मरी हुई पाई गई थी। उसका सर धड़ से अलग था। दोनों हाथ काटे गए थे… और स्तन भी काटे गए थे।… धड़ से कुछ दूर पड़े उसके सिर पर तेज़ाब डाला गया था ताकी उसकी पहचान मिटाई जा सके। घरवालों ने उसकी चप्पल, और पैर की पायल से उसकी पहचान की। वो सिर्फ़ 16 साल की थी।

संजना 28 दिसम्बर को तब ग़ायब हुई थी जब शाम के समय वो कुछ सामान लेने बाहर गई थी। फिर 6 जनवरी को उसकी लाश मिली।

6 जनवरी को उसकी लाश मिलने के बाद बुनकरी का काम करने वाली पूरी पटवा बिरादरी प्रदर्शन कर रही है जो अब भी जारी है। लेकिन पुलिस ने अब यह कहा है कि संजना की हत्या उसके ही पिता ने की थी अपने एक दोस्त के साथ मिलकर। पुलिस के इस दावे पर कई सवाल उठ रहे हैं। पटवाटोली के लोगों का कहना है कि मामले की सीबीआई जाँच होनी चाहिए।

योगी को तेजस्वी ने दी चेतावनी- हमारे बिहार में ‘ज़हर’ मत उगलना, यहां ‘गुंडागर्दी’ नहीं चलेगी

पुलिस का कहना है कि संजना की हत्या ऑनर किलिंग है। वो प्रेम प्रसंग में थी जो उसके पिता को नागंवार गुज़री। इसीलिए पिता ने उसकी हत्या कर दी।

पुलिस के इस ख़ुलासे पर किसी को यक़ीन नहीं है।… घरवालों के मुताबिक़ पुलिस ने उन्हे टॉर्चर किया और बिजली का झटका देकर ये कहने को मजबूर किया कि 28 दिसम्बर को ग़ायब संजना 31 को वापस लौटी थी।… इसी बयान के आधार पर पुलिस कह रही है कि वापस लौटने के बाद घरवाले उसे बाहर ले गए जिसके बाद वो वापस नहीं लौटी।

सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या कोई पिता अपनी बच्ची का स्तन काट सकता है?… या कटवा सकता है?…. ये सिर्फ़ हमारा सवाल नहीं है। ये सवाल पटवाटोली के तमाम लोगों का भी है।

स्थानीय पत्रकार विश्वनाथ कहते हैं कि, एसएसपी ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ था। पिता और उसके दोस्त ने मिलकर लड़की की हत्या कर दी। ये ऑनर किलिंग है।… अगर ऐसा है तो हथियार कहाँ हैं जिससे उसकी हत्या की गई?… हत्या कहाँ की गई? ये सब पुलिस ने क्यों नहीं बताया?

पुलिस ने पिता और उसके दोस्त को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया है।

बिहार में लड़कियों की सुरक्षा हमेशा दाँव पर लगी रहती है। साल 2019 में वहाँ रेप के कुल 1304 मामले दर्ज किए गएँ। जो साल 2005 के मुक़ाबले लगभग 3 गुना ज़्यादा हैं। सुशासन बाबू के सूबे में लड़कियों की सुरक्षा हमेशा ख़तरे में रहती है।

साहेब दुनिया हंस रही है, 2018 चला गया 2019 में तो एक लाइव ‘इंटरव्यू’ दे दो : रवीश कुमार

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने घटना पर प्रतिक्रिया ज़ाहिर करते हुए कहा है कि-

मुज़फ़्फ़रपुर शेल्टर होम की घटना से लेकर इस घटना तक… कुशासन बाबू और जुमला बाबू ने मिलकर बिहार को इतना असुरक्षित कर दिया है जितना वो कभी नहीं था। इस पर भी कोई दुःख नहीं है… कोई शर्म नहीं है।