किसानों के हक़ में आवाज़ उठाने वालों के ख़िलाफ़ दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई शुरु कर दी है। दिल्ली पुलिस ने किसान आंदोलन से जुड़े टूलकिट मामले में पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है।

पुलिस का आरोप है कि दिशा ने ही किसानों के समर्थन वाली उस टूलकिट को सर्कुलेट किया था, जिसे ग्रेटा थनबर्ग ने ट्विटर पर शेयर किया था।

दरअसल, ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के समर्थन में कुछ दिनों पहले एक ट्वीट किया था। इसी ट्वीट के साथ उन्होंने टूलकिट भी शेयर कर दी थी। हालांकि बाद में उन्होंने इसे डिलीट कर दिया था।

इस टूलकिट में बताया गया था किसान आंदोलन के लिए सोशल मीडिया पर समर्थन कैसे जुटाया जाए और सरकार पर दबाव कैसे बनाया जाए।

इस टूलकिट के सामने आने के बाद ग्रेटा थनबर्ग के ख़िलाफ केस दर्ज किया गया। आरोप लगाया गया कि वो इसके ज़रिए अराजकता का माहौल पैदा करना चाहती हैं।

इसी मामले में कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि को गिरफ्तार किया है। दिशा रवि की गिरफ्तारी के बाद केंद्र की मोदी सरकार किसानों और विपक्ष के निशाने पर आ गई है। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, अरविंद केजरीवाल समेत कई बड़े विपक्षी नेताओं ने सरकार को इस मसले पर घेरा है।

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने भी दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की है।

वहीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति की भांजी और पेशे से वकील मीना हैरिस ने भी दिशा की गिरफ्तारी की आलोचना करते हुए भारत की मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा, “भारतीय अधिकारियों ने एक अन्य महिला कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया है, क्योंकि उसने किसानों के विरोध का समर्थन करने के लिए सोशल मीडिया टूलकिट पोस्ट की थी। सरकार से पूछना चाहिए कि आखिर वो क्यों कार्यकर्ता को निशाना बना रहे हैं”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + 17 =