लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण (18 अप्रैल) में पश्चिम बंगाल की तीन सीटों पर मतदान हो रहा है। ये तीन सीटें हैं जलपाईगुड़ी, रायगंज और दार्जिलिंग।

रायगंज से सीपीआई (एम) के उम्मीदवार हैं मोहम्मद सलीम। चुनाव आयोग का दावा है कि तमाम सुरक्षा इंतजामों साथ चुनाव करवाए जा रहे हैं। लेकिन गुरुवार की सुबह मतदान के लिए जा रहे मोहम्मद सलीम पर हुए हमले ने इस कथित सुरक्षा इंतजाम के पोल खोल दिए।

दरअसल, मोहम्मद सलीम का वोट रायगंज सीट में पड़ता है और वो इसी सीट से चुनाव भी लड़ रहे हैं। जब वो अपना वोट डालने के लिए पोलिंग बूथ की ओर जा रहे थे तब इस्लामपुर में उनके काफिले पर पथराव किया गया। आरोप तो ये भी है कि काफिले पर गोलियां चलाई गईं।

इस घटना के बाद मोहम्मद सलीम को पार्टी ऑफिस ले जाया गया। बताया जा रहा है कि वो अब सुरक्षित हैं। चुनाव आयोग ने राज्य प्रशासन से इसपर रिपोर्ट मांगी है।

बता दें कि मोहम्मद सलीम रायगंज के मौजूदा सांसद भी हैं। ऐसे में एक लोकसभा सांसद के काफिले पर इस तरह हमला होना खुद चुनावों की तैयारी और सुरक्षा की कमी दर्शाता है।

इस बार रायगंज सीट पर मोहम्मद सलीम का मुकाबला भाजपा के देबोश्री चौधरी, टीएमसी के कन्हैया लाल अग्रवाल और कांग्रेस की दीपा दासमुंशी से है। पिछले चुनावों में भी मोहम्मद सलीम ने कांग्रेस की दीपा दासमुंशी को चंद वोटों से हराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 + thirteen =