नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट आई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रेलवे बीते 10 सालों में सबसे बुरी हालत में है। कैग ने बताया है कि रेलवे की कमाई बीते 10 सालों में सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुकी है। जबकि, जब लालू प्रसाद यादव रेल मंत्री थे तब भारतीय रेलवे अपने इतिहास में पहली बार 25 हजार करोड़ रुपये के मुनाफे में थी।

ये विडंबना ही है कि भारतीय रेलवे और भारत सरकार को 25 हजार करोड़ का मुनाफा देने वाले लालू प्रसाद यादव इस समय रांची की जेल में बंद हैं। लालू उस चारा घोटाले में आरोपी होने के कारण जेल में बंद हैं जो तब के बिहार के मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा के समय से चला आ रहा था। लेकिन उसी घोटाले में लालू को जेल में डाल दिया गया और जगन्नाथ मिश्रा जेल से बाहर रहे।

10 साल में सबसे बुरे दौर में पहुंची भारतीय रेलवे, लालू यादव बोले- ‘बहुत याद आएंगे हम’

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने लालू यादव के जेल में बंद होने पर दुःख जताया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि, “पटरी, प्लेटफ़ॉर्म, स्टेशन और ट्रेन बिकने पर भी ऐसी स्थिति, दुखद है! कभी गरीबों के लिए AC ट्रेन चलवाकर भी 25,000 करोड़ का मुनाफा दिलाने वाले माननीय लालू प्रसाद यादव जी। आईआईएम और हार्वर्ड के मैनजेमेंट गुरु कहलाए लेकिन नीतीश जी की साजिश से आज जेल में हैं।”

बता दें कि लालू ने रेल मंत्री रहते देश में गरीबों को AC ट्रेन में चलने के लिए बहुत कम पैसों में ‘गरीब रथ’ जैसी ट्रेन चलवाकर सुविधा दी थी। साथ ही लालू ने लंबी दूरी के लिए ‘दुरंतो’ ट्रेन चलवाई थी। इन सबके बाद भी भारतीय रेलवे को उन्होंने 25 हजार करोड़ का मुनाफा कमवाया था। कहा जा सकता है कि, जब लालू प्रसाद यादव रेल मंत्री थे तब यही भारतीय रेवले अपने स्वर्णिम काल में थी, यानि लालू के रेल मंत्री रहते रेलवे हजारों करोड़ के मुनाफे में थी।

गौरतलब है कि मोदी राज में देश की अर्थव्यवस्था का दिवालिया निकल गया है। जीडीपी विकास दर 6 सालों में सबसे कम 4.5 फीसदी पर आने के बाद अब भारतीय रेल भी बदहाली की कगार पर है। रेलवे का परिचालन अनुपात वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 फीसदी तक पहुंच गया है।

आज RJD भाजपा से मिल जाए तो कल ‘लालू यादव’ जेल से बाहर आ जाएंगे, ये 100% सच है : राजद नेता

इसका मतलब ये है कि भारतीय रेलवे 98.44 रुपये लगाकर सिर्फ 100 रुपये की कमाई कर रही है। रेलवे को महज एक रुपये 56 पैसे का मुनाफा हो रहा है। ये रेलवे के लिए बहुत बुरी स्थिति है।

यही नहीं भारतीय रेलवे को बदल कर रख देने वाले लालू प्रसाद यादव के इस मैनेजमेंट की भारत समेत दुनियाभर में पसंद किया गया। बाहर विदेश से छात्र आकर लालू यादव के द्वारा रेलवे को मुनाफे में पहुँचाने की रिसर्च करने लगे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =