बीजेपी नेता कपिल मिश्रा एक बार फिर दिल्ली में हिंसा भड़काने की कोशिश में जुट गए हैं। उन्होंने गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर भड़काऊ बयान दिया है। उन्होंने लोगों से एक बार फिर सड़कों पर उतरने की अपील की है।

इससे पहले नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के दौरान उन्होंने लोगों से सड़क पर उतरने की अपील की थी। जिसके दो दिन बाद ही दिल्ली में हिंसा भड़क उठी थी।

उनपर दिल्ली हिंसा को भड़काने के गंभीर आरोप भी लगे थे। हालांकि दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कपिल मिश्रा के भड़काऊ बयान का ज़िक्र नहीं किया था।

अब गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा को लेकर कपिल मिश्रा ने ट्विटर के ज़रिए कहा, “जलती दिल्ली करे पुकार… बंद करो ये अत्याचार… दिल्ली पर बार बार हमला… दिल्ली को बार बार जलाना…

दिल्ली पुलिस के जवानों की हत्या की कोशिश… दिल्ली वाले दहशत में जीने को मजबूर… आखिर कब तक?… दिल्ली को बचाने के लिए हमें भी “शांतिपूर्ण” तरीके से सड़कों पर उतरना सीखना ही होगा”।

यहां कपिल मिश्रा ने भले ही शांतिपूर्ण तरीके से लोगों से सड़कों पर उतरने की अपील की हो, लेकिन उनके पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए ये संदेह जताया जा रहा है कि उनकी कोशिश एक बार से हिंसा को भड़काने की है।

इससे पहले फरवरी 2020 में जब उन्होंने लोगों से सड़कों पर उतरने की अपील की थी, तब दिल्ली जल उठी थी।

उनकी अपील पर उनके समर्थक नाकरिकता कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों से भिड़ गए थे। जिसके बाद दिल्ली की जो भयावाह तस्वीरें थीं वो भारत समेत पूरी दुनिया ने देखी थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight + thirteen =