• 2.1K
    Shares

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे का दावा है कि, अगले पाँच सालों में देश में इतनी नौकरियाँ होंगी कि देश के लोगों के साथ अमेरिका और लंदन के लोग भी यहाँ नौकरी करने आएँगे।

INDIA TODAY के MIND ROCKS कार्यक्रम में बीजेपी नेता ने रोज़गार के सवाल का जवाब देते हुए ये बात कही।

अब बीजेपी नेता निशिकांत दुबे की इस बात पर हँसा जाए या ग़ुस्सा किया जाए?… हँसना इसलिए चाहिए कि जिस देश में दर्ज़ी, नाई, माली, ड्राईवर, मोची की नौकरी के लिए MBA, MCA, B.TECH जैसे डिग्रीधारक आवेदन करते हों।

युवाओं को ‘नौकरी’ नहीं दे रहे मोदी, रवीश बोले- जबतक ‘हिंदू-मुस्लिम’ करते रहोगे तबतक कोई नहीं सुनेगा?

यानी बेरोज़गारी का ये आलम हो कि ऊँची शिक्षा हासिल करने के बावजूद लोगों के पास काम न हो और वो कुछ भी करने के तैयार हों। वहाँ कोई नेता अमेरिका-लंदन वालों को रोज़गार देने की बात कहे तो हँसी आना लाज़मी है।

और ग़ुस्सा इसलिए आना चाहिए कि, देश में साल 2018 में 1 करोड़ 10 लाख लोगों की नौकरियाँ छिन गईं। और सत्ताधारी पार्टी का नेता बजाए दुःख ज़ाहिर करने के बेरोज़गारों के साथ भद्दा मज़ाक कर रहो। तो ग़ुस्सा आना ही चाहिए।…

अरे भाई अपने देश में इतने ही बदलाव कर लिए हैं कि अमेरिका-लंदन जैसे विकसित देशों के लोग आपके यहाँ नौकरियाँ माँगने आने वाले हैं तो लगे हाथ ये भी बता दीजिए कि देश के बेरोज़गारों के लिए आपने क्या किया है?

मोदी ने ‘नोटबंदी’ से 35 लाख लोगों की नौकरियां छीन ली फिर इसे छिपाने के लिए ‘विज्ञापनों’ में 5000 करोड़ फूंक दिए : रवीश

बहरहाल, बीजेपी नेता के इस बयान के बाद JNU के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ट्वीटर पर जमकर मोदी सरकार का मज़ाक उड़ाया कन्हैया ने लिखा-

धीरे-धीरे जुमलों को बढ़ाना है

हद से गुज़र जाना है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here