kanhaiya kumar
Kanhaiya Kumar condemns Modi Govt for brutal attack on Jamia Protester

नागरिकता संशोधन विधेयक को भले ही दोनों सदनों से हरी झंडी मिल गई हो, लेकिन सड़कों पर इसका व्यापक तौर पर विरोध देखने को मिल रहा है। दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में भी इसका विरोध हुआ।

यूनिवर्सिटी के छात्रों ने बिल के विरोध में बीते कल एक प्रोटेस्ट मार्च निकाला। इस मार्च को संसद भवन तक जाना था। लेकिन जैसे ही यूनिवर्सिटी से मार्च निकाला गया पुलिस ने छात्रों को बलपूर्वक वहीं रोक दिया। जब छात्रों ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने उनपर बेरहमी से लाठियां भांजनी शुरु कर दी।

CAB विरोध : लोगों पर गोलियाँ-लाठियाँ चलाई जा रही है, ये लोग पूरे देश को कैदखाना बना देंगे- कन्हैया

पुलिस की लाठियां खाने के बाद भी छात्रों के हौसले नहीं टूटे। छात्रों ने इसके बावजूद प्रोटेस्ट जारी रखा। जिसे रोकने के लिए पुलिस ने उनपर आंसू गैस के गोले दागे और उनपर पथराव शुरु कर दिया। पुलिस द्वारा किए गए इस पथराव और लाठीचार्ज में कई छात्र बुरी तरह से घायल हो गए।

पुलिस के लाठीचार्ज में घायल हुए छात्रों की तस्वीरें सामने आई हैं। जिनमें देखा जा सकता है कि किसी के सिर में गहरी चोटें आई हैं तो किसी के पैर बुरी तरह ज़ख्मी हो गए हैं। पुलिस की इस बर्बरता की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं। कुछ तस्वीरों में पुलिसकर्मियों को छात्रों पर पथराव करते भी देखा जा सकता है।

CAB : जामिया छात्रों के समर्थन में उतरे एक्टर जीशान अय्यूब, बोले- लड़ाई जारी रखना, मैं भी आऊँगा

ऐसी ही कुछ तस्वीरों को वामपंथी नेता एवं जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ट्विटर के ज़रिए शेयर किया है। उन्होंने इसे शेयर करते हुए तंज़िया अंदाज़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, “बूझो तो जाने साहेब अच्छा फेंकते हैं या उनकी पुलिस?”

बता दें कि नागरिकता संशोधन विधेयक का सबसे ज़्यादा विरोध पूर्वोत्तर राज्यों में हो रहा है। असम में इस बिल के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। जगह-जगह आगज़नी और तोड़फोड़ की जा रही है। अबतक इस हिंसा के दौरान पुलिस फायरिंग में दो लोगों की मौत भी हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here