बीजेपी ने भोपाल लोकसभा सीट से मालेगांव बम धमाकों की मुख्य आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को अपना उम्मीदवार बनाया है। साध्वी प्रज्ञा को टिकट दिए जाने पर विपक्षी दल के नेताओं से लेकर कई पत्रकार सवाल उठा रहे हैं।

अब पत्रकार सोनिया सिंह ने इसपर सवाल उठाते हुए कहा कि एक आतंकवाद की आरोपी को सत्तारूढ़ पार्टी का प्रत्याशी बनाकर हम दुनिया को क्या संदेश दे रहे हैं? उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “ये….. अवाक है। एक आतंकवाद की आरोपी सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव कैसे लड़ सकती है। हम दुनिया को क्या संदेश भेज रहे हैं”?

ग़ौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा मालेगांव ब्लास्ट केस में अभी भी आरोपी हैं। वह वर्तमान में मुकदमे का सामना कर रही हैं। 2017 में एनआईए कोर्ट ने उनके खिलाफ लगे कड़े कानून मकोका को हटा दिया था। 2018 में NIA ने उन्हें क्लीन चिट दे दी थी, लेकिन इसे कोर्ट ने नहीं माना। एनआईए की स्पेशल कोर्ट में अब भी उनके खिलाफ ट्रायल चल रहा है।

हालांकि बीजेपी उन्हें आतंकी नहीं मानती। ख़ुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह बात कह चुके हैं कि हिंदू आतंकवाद नाम की कोई चीज़ नहीं है। यह कांग्रेस द्वारा षणयंत्र के तहत दी गई एक फर्जी थ्योरी है।

बीजेपी भले ही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को आतंकी न मानती हो, लेकिन बम धमाके के मामले में उनकी संलिप्तता को कोर्ट ने भी माना है। जिसकी वजह से वह 9 साल जेल में रह चुकी हैं और अभी भी ज़मानत पर बाहर हैं।

बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर साल 2008 के जिस मालेगांव ब्लास्ट केस की मुख्य आरोपी हैं उसमें 7 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 80 लोग घायल हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =