बीते दिनों से इजरायल और फिलीस्तीन के बीच जंग फिर से तेज हो गई है। इजरायल और फिलीस्तीन के बीच हुई जंग में 65 फिलीस्तीनियों की मौत हो गई है।

दरअसल दोनों देशों के बीच कई सालों से चल रहा यह युद्ध दुनिया भर के देशों के लिए चिंता का विषय है।

इस मामले में कई दिनों के बाद अब भारत में भी अपनी चुप्पी तोड़ी है। इजरायल और फिलीस्तीन के बीच चल रही हिंसा पर भारत ने संयुक्त राष्ट की सुरक्षा परिषद की मीटिंग में अपना पक्ष रखा है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा है कि भारत दोनों पक्षों से ऐसी हिंसा को रोकने की अपील करता है।

इसके साथ ही उन्होंने गाजा पट्टी में हुए रॉकेट हमले की भी कड़ी निंदा की है। सुरक्षा परिषद की मीटिंग में भारत का पक्ष रखते हुए टीएस तिरुमूर्ति ने कहा है कि भारत फिलीस्तीन द्वारा की जा रही जायज मांगों का समर्थन करता है।

बता दें, सुरक्षा परिषद् की बैठक के दौरान संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने इजराइल और फिलीस्तीन के बीच चल रहे तनाव को बेहद गंभीर करार दिया है।

इजराइल द्वारा किए गए इस हमले में बड़ी तादाद में आम लोगों की मौतें हुई हैं। जिनमें मासूम बच्चे और औरतें शामिल है। इस हमले में एक भारतीय शख्स की भी मौत हुई है।

जिसपर शोक जाहिर करते हुए टी.एस.तिरुमर्ति ने कहा है कि वक़्त का तकाजा ये है कि पक्षों द्वारा हिंसक हमले बंद किए जाने चाहिए।

दरअसल साल 2014 के बाद इजरायल और फिलीस्तीन में इस तरह के भीषण हमले पहली बार हुए हैं। इजरायल द्वारा किए गए इस हमले से गाजा पट्टी में काफी नुकसान हुआ है।

आपको बता दें कि यह ऐसा पहला मौका है। जब इजराइल और फिलिस्तीनियों के बीच चल रही जंग पर भारत ने आधिकारिक तौर पर प्रतिक्रिया जारी की है। इससे पहले तक भारत को इजराइल का समर्थक माना जा रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − eight =