हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में रेलवे लाइन के किनारे बनी झुग्गियों को हटाए जाने पर रोक लगाई थी। क्योंकि इस मामले में फैसला रेलवे दिल्ली सरकार और शहरी विकास मंत्रालय के साथ सलाह मशवरे से किया जाना था।

इसी बीच अब खबर सामने आ रही है कि दिल्ली के ओखला के जामिया नगर में स्थित धोबी घाट में 100 से ज्यादा झुग्गियों को तोड़ दिया गया है। इन झुग्गियों में रहने वाले लोगों को बेघर कर दिया गया है। अब यह लोग सड़कों पर रहने को मजबूर हो गए हैं।

गौरतलब है कि देश में पहले कोरोना संक्रमण के चलते मोदी सरकार लोगों को अपने घरों में रहने के लिए कह रही है।

वहीं दूसरी तरफ इन गरीब और मजदूर लोगों के घरों को ही तबाह कर दिया गया है। क्या इन गरीब लोगों का सरकार के लिए कोई अस्तित्व नहीं है।

सरकार द्वारा सभा की गई इन झुग्गियों में रहने वाले लोगों की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसमें एक ही दिन के अंदर घर से बेघर होने वाले लोग बिलखते हुए नजर आ रहे हैं। यह लोग सवाल पूछ रहे हैं कि वह अब कैसे घर बनाएंगे। क्योंकि उनके पास फिलहाल कोई खास रोजगार भी नहीं है।

इस वीडियो को शेयर करते हुए मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। इसके साथ उन्होंने अभिनेत्री कंगना रनौत का हवाला देते हुए मीडिया पर भी तंज कसा है।

इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्वीट में लिखा कि “कंगना के अंगना में एक छज्जा टूटा तो पूरी मीडिया तांडव करने लगी थी, यहॉं हज़ारों लोग बेघर हो गये किसी के कान पर जूँ नहीं रेंगी !”

गौरतलब है कि भाजपा समर्थक कंगना रनौत पर कार्रवाई करते हुए जब महाराष्ट्र सरकार ने उनके घर पर बुलडोजर चलवा दिया था। तो गोदी मीडिया ने चिल्ला चिल्ला कर कंगना के पक्ष में खबरें चलाते हुए महाराष्ट्र सरकार को घेरा था।

लेकिन अब इन गरीब लोगों के घर तोड़ने के मामले में मोदी सरकार से एक सवाल तक नहीं पूछा जा रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 + 7 =