देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। इनमें पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी शामिल हैं।

फिलहाल इनमें से एक राज्य असम में भाजपा गठबंधन की सरकार है तो वहीं तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक की सरकार है जो एनडीए का हिस्सा है यानी कि कह सकते हैं कि इन 5 में 2 राज्यों में गठबंधन के साथ भाजपा सत्ता में है।

जिस तरह की चुनावी संभावनाएं व्यक्त की जा रही है, वैसे में नहीं लगता है कि किसी भी राज्य में भाजपा सरकार बना पाएगी।

ऐसे में सामाजिक कार्यकर्ता हंसराज मीणा ने ट्वीटर पर लिखा है कि इन सभी पांच प्रदेशों के विधानसभा के चुनावों में अगर भाजपा बुरी तरीके से हारती है तो पटाखे पाकिस्तान में नहीं बल्कि सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर और टिकरी बॉर्डर पर पटाखे फूटेंगे. हंसराज ने ये ट्वीट किसान आंदोलन के संदर्भ में किया है।

मालूम हो कि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। किसान चाहते हैं कि केंद्र सरकार अपने तीनों कृषि बिलों को वापस ले। जब तक सरकार इन बिलों को वापस नहीं लेती है तब तक ये आंदोलन जारी रहेंगे।

वहीं केंद्र की मोदी सरकार किसानों को ज्यादा भाव देने के मूड में नजर नहीं आ रही और नहीं वो कृषि बिलों को वापस लेने के पक्ष में दिखाई दे रही है।

केंद्र की भाजपा सरकार के इस अड़ियल रवैये के विरोध में किसान संगठनों ने पांचों चुनावी प्रदेशों में इस बात को लेकर जनजागरण अभियान चलाया था कि कोई भी किसान भाजपा को वोट न करें।

खुद भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने पश्चिम बंगाल के किसानों के बीच भाजपा के खिलाफ प्रचार अभियान चलाया था।

हंसराज के कहने का आशय यही है कि अगर इन पांचों राज्यों में भाजपा चुनाव हारती है तो दिल्ली की सीमाओं पर, जहां किसान आंदोल कर रहेे हैं, वहां पटाखे फूटेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह अक्सर अपने चुनावी भाषणों मेें कहते हैं कि अगर आपके प्रदेश से भाजपा हार गई तो पाकिस्तान में पटाखे फूटेंगे, खूब जश्न मनेगा।

उनके इसी भाषणों को आधार बनाकर हंसराज मीणा ने भी ट्वीट कर दिया है और इसी ट्वीट को बड़ी संख्या में लोगों का समर्थन भी मिल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 9 =