• 4.1K
    Shares

रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) के को-फाउंडर अनिल अंबानी को अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दोषी करार दिया था। इस मामले में अनिल अंबानी का जेल जाना लगभग तय हो गया था।

लेकिन ऐन वक्त पर बड़े भाई मुकेश अंबानी ने बचा लिया। दरअसल आरकॉम पर एरिक्सन के 550 करोड़ रुपए बकाया था। उसने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक तय समय पर भुगतान नहीं किया।

इसी मामले में सुनावई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी को अवमानना का दोषी पाया और कहा कि अगर एरिक्सन को 4 हफ्ते में 453 करोड़ रुपये चुकाए तो अनिल अंबानी को जेल जाना पड़ेगा।

अनिल अंबानी की आर्थिक स्थिति इस कर्ज को चुकाने की नहीं थी। जेल जाना पड़ सकता था। ऐसे में भाई मुकेश अंबानी ने बकाया भुगतान करने में अनिल अंबानी की मदद की। मुकेश अंबानी के मदद के बाद अनिल अंबानी पर जो जेल जाने का खतरा मंडरा रहा था, वह अब टल गया है।

कर्ज में डूबे अंबानी ने एरिक्सन को लौटाए 458 करोड़, लोग बोले- राफेल की पहली क़िस्त आ गई क्या?

अनिल अंबानी ने सोमवार को एक बयान जारी कर मुकेश अंबानी और भाभी नीता अंबानी का शुक्रिया अदा किया। इस पूरे घटनाक्रम पर कटाक्ष करते हुए वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने लिखा है ‘मुझे एक ही बात समझ नहीं आ रही है कि अनिल अंबानी को जेल जाने से बचाने के लिए उनके कर्जे का भुगतान भ्राताश्री मुकेश अंबानी कर रहे हैं तो राफेल का इतना बड़ा काम कैसे करेंगे ? इतने बड़े गरीब को इतना बड़ा काम ?’

ग़ौरतलब है कि अंबानी ब्रदर्स को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का करीबी माना जाता है। कांग्रेस इस बात का दावा करती रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर ही अनिल अंबानी की नई कंपनी रिलायंस एयरोस्ट्रक्टर लिमिटेड को राफेल डील में आफ़सेट पार्टनर बनाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here