हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 (Haryana Assembly Election) के नारिजों के लिए मतगणना जारी है। इस बीच बीजेपी को तगड़ा झटका लगा है। बीजेपी ने मुस्लिम बाहुल्य मेवात जिले में दो मुस्लिम उम्मीदवारों पर दावं खेला था लेकिन, दोनों उम्मीदवार हारे रहे हैं। नूंह विधानसभा सीट से BJP के जाकिर हुसैन हार रहे हैं जोकि तीन बार के विधायक हैं। झिरका सीट से नसीम अहमद पीछे चल रहे हैं।

नूंह विधानसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार जाकिर हुसैन को कांग्रेस प्रत्याशी आफताब अहमद शिकश्त देते नाराज आ रहे हैं। वहीं झिरका में कांग्रेस के मामन आगे चल रहे हैं। मामन को अभी तक 84494 वोट मिले हैं। बीजेपी के नसीम अहमद को 47521 वोट मिले हैं।

जबकि जारी मतगणना के मुताबिक बीजेपी के चार बड़े नेता और खट्टर सरकार में मंत्री हारते नजर आ रहे हैं। सोनीपत से कविता जैन, बादली सीट से कृषि मंत्री ओपी धनखड़, नारनौंद से वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और रादौर सीट से कर्णदेव कम्बोज पीछे चल रहे हैं।

महाराष्ट्र चुनावः सपा ने 2 सीटों पर दर्ज की जीत, अबु आज़मी और रईस शेख के सिर सजा जीत का सेहरा

हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला भी टोहाना सीट से हारते नजर आ रहे हैं। आकड़ों के अनुसार हरियाणा में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता दिख रहा है। ऐसे में दुष्यंत चौटाला की ‘जेजेपी’ किंगमेकर की भूमिका में नजर आ रही है। हरियाणा में 46 सीटों पर बहुमत है। यहां कुल 90 सीटों की विधानसभा है।

जननायक जनता पार्टी के दुष्यंत चौटाला का कहना है कि, सत्ता की चाभी हमारे पास है। उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा, कोई भी पार्टी 40 का आंकड़ा पार नै करेगी। इस बार विधानसभा में जेजेपी अहम भूमिका निभाएगी। वहीं यह बात भी सामने आ रही है कि इस स्थिति में दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) कांग्रेस के साथ जाकर कर्नाटक की तर्ज पर मुख्यमंत्री का पद मांग सकते हैं। भूपिंदर हुड्डा का कहना है कि, हरियाणा में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + 6 =