उत्तराखंड भाजपा से निकाले जाने के बाद हरक सिंह रावत फिर से काँग्रेस में शामिल हो गए। नई दिल्ली में आज टिकट वितरण को लेकर कांग्रेस की एक बैठक हुई। इस बैठक में आज उत्तराखंड कांग्रेस की अगुवाई कर रहे हरीश रावत ने हरक सिंह रावत को पार्टी में शामिल कराया।

हरक सिंह रावत ने कांग्रेस जॉइन करते हुए कहा “जब कोंग्रेस 10 मार्च को चुनाव जीत कर बहुमत की सरकार बनाएगी तब मेरी माफी होगी, भाजपा ने मेरा इस्तेमाल किया और फेक दिया। मैं आखरी समय तक ग्रह मंत्री अमित शाह के सम्पर्क में रहा”

हरक सिंह रावत कोटद्वार से विधायक है और भाजपा सरकार में मंत्री थे।  लेकिन 5 दिन पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उनको कैबिनेट से बर्खास्त कर पार्टी से निकाल दिया था। हरक सिंह रावत पर भाजपा की तरफ से आरोप है की वह पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त थे और पार्टी के अंदर की बात विरोधियों को बता रहे थे।

इसके अलावा भाजपा का आरोप है कि हरक सिंह रावत अपनी पुत्र वधु अनुकृति गुसाई के लिए भी टिकट की मांग कर रहे थे। लेकिन जब टिकट नहीं मिला तो कांग्रेस से साठगांठ करने लगे। और भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने लगे।

इससे पहले 2017 में हरक सिंह रावत कांग्रेस के साथ थे। लेकिन विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस छोड़ दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × two =