yes bank
Yes Bank
  • 97.9K
    Shares
राजन राज

गुरूवार को रिजर्व बैंक ने यस बैंक के ग्राहकों के लिए 50 हजार रूपये तक की निकासी सीमा तय कर दी थी लेकिन खबर आ रही है कि आरबीआई के इन नियमों के आने से ठीक एक दिन पहले ही गुजरात के एक कारोबारी ने 265 करोड़ रूपये निकाल लिया था।

सूत्रों से मिली खबर के अनुसार, ये राशि दूसरे दिन ही किसी और बैंक में जमा कर दी गई है। बिजनेस स्टेंडर्ड में प्रकाशित एक खबर के अनुसार- इस कंपनी का नाम वडोदरा स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी है। भीएमसी के उप म्युनिसिपल कमिशनर के अनुसार उन्हे यह राशि केंद्र सरकार के द्वारा प्राप्त हुई थी, जिसे यस बैंक में जमा कर दिया था।

यस बैंक संकट : जयवीर शेरगिल बोले- और कितने बैंक कंगाल होने के बाद ‘वित्तमंत्री’ इस्तीफा देंगी?

बता दें कि रिजर्व बैंक के नए प्रतिबंधों के अनुसार कोई भी उपभोक्ता एक महीने में 50 हजार से ज्यादा निकासी नहीं कर सकता है। इसके साथ ही आरबीआई ने यस बैंक पर और भी कई कड़े प्रतिबंध लगा दिए थे। बाजार में आया भूचाल यस बैंक पर लगे कड़े प्रतिबंधों में के बाद शेयर बाजार बुरी तरह गिर चुका है।

ताजा आकड़ों के मुताबिक गुरूवार सेंसेक्स में 893 अंक गिर कर 37 हजार 576 अंक पर आ गया था वहीं अगर निफ्टी की बात करें तो उसमें भी 279 अंको की गिरावट देखी गई थी।

अब यस बैंक भी डूबा! पप्पू यादव बोले- चिंता न करें, मोदी मंत्र का जाप करें, दर्द का अहसास नहीं होगा

यस बैंक पर पड़े इस आर्थिक संकट का असर दूसरे कई बैंको पर भी देखने को मिल रहा है। भारत के सबसे बड़े बैंक समूह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का शेयर भी आज तकरीबन 6 फीसदी तक गिर चुका है वहीं आईडीबीआई बैंक का शेयर 11 फीसदी तक गिर चुका है।

वहीं अगर आज बाजार में विनिर्माण सेक्टर की बात करें तो टाटा स्टील के शेयर भी 5 फीसदी तक गिर चुका है। इस गिरावट के पीछे विदेशी बाजारों की गिरावट का असर बताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here