यूपीः भदोही ज़िले के गोपीगंज इलाक़े में छेड़कानी का विरोध करने पर कुछ लोगों ने महिला के घर में घुसकर कथित तौर पर मारपीट की और उसे बिना कपड़ों के पूरे गाँव में घुमाया। और योगी आदित्यनाथ की नकारा पुलिस ने उल्टा पीड़ित महिला और उसके पति पर ही मामला दर्ज कर दिया।

भदोही के गोपीगंज इलाक़े में रहने वाली और बुनकर का काम करने वाली 32 साल की एक औरत बुनकरों के लिए बनने वाला शिल्पी कार्ड बनवाने गई थी। वहाँ लालचंद यादव नाम के एक आदमी ने उसके साथ छेड़खानी की।

CM योगी बोले- अपराधियों का मानवाधिकार नहीं होता, पंखुड़ी ने कहा – इसीलिए बाबा ने ख़ुद के अपराध मिटा दिए

महिला के विरोध करने पर लालचंद आग बबूला हो गया और विरोध का बदला लेने के लिए अपने साथियों राजभर, रिंकू और प्रदीप यादव के साथ महिला के घर में घुस गया और उसको बेरहमी से पीटा। सिर्फ़ इतना ही नहीं इन तीनों दरिंदों ने उस महिला को निर्वस्त्र कर पूरे गाँव में घूमाया और पिटाई की।

इस दौरान गाँव के लोग तमाशबीन बने रहे। और बेशर्मी का परिचय देते हुए घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

जब महिला अपने साथ हुई इस घिनौनी हरकत की शिकायत लेकर थाने पहुँची तो पुलिस ने उसका मेडिकल कर मामला रफ़ा-दफ़ा करने की सोची। फिर जब बात नहीं बनी तो बजाय कार्रवाई के महिला को ही वापस घर भेज दिया।

बुलंदशहर हिंसा पर बोले राज बब्बर- योगी सरकार भीड़ का नेतृत्व कर रहे गुंडों के साथ खड़ी है

मामले ने तूल पकड़ा तो आरोपियों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की गई। पुलिस क्षेत्राधिकारी का कहना है कि मामले में मुख्य आरोपी लालचंद यादव को गिरफ़्तार कर बाक़ियों को तलाश किया जा रहा है।

पीड़ित महिला और उसके पति पर भी पुलिस ने मुक़दमा दर्ज किया है। इस मामले में गोपीगंज थाने के पुलिस इंस्पेक्टर अनिल यादव को लाइन हाज़िर कर दिया गया है।

( नोट: एक तथ्यात्मक पुष्टि के बाद लेख के हेड लाइन को संशोधित कर दिया गया है )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 5 =