gauhar raza
Gauhar Raza

नागरिकता संशोधन बिल के पास हो जाने से देश के सभी इलाकों में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहें है। एक ओर जहां सरकार इसके फ़ायदे की दलीले संसद के दोनों सदनों गिना रही है। वहीं इसके खिलाफ लोग सड़क पर पुरजोर विरोध कर रहे हैं।

इस नागरिक संशोधन बिल के खिलाफ देश के सभी यूनिवर्सिटियों के छात्र भी सड़कों पर उतर इसका विरोध कर रहे हैं।  देश के पूर्वोतर राज्यों में ख़ासतौर पर ज्यादा हिंसक तरीके से विरोध प्रदर्शन लोग कर रहे हैं। असम में कल प्रदर्शन कर रहे दो लोगों की जान चली गयी। वहां पर मंत्री और नेताओं को भी लोग घेरकर विरोध कर रहे हैं।

बता दें कि दिल्ली में भी तीन दिनों से जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी के छात्र इस नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ सड़क पर भारी विरोध कर रहे हैं। जिनके ऊपर पुलिस ने लाठीचार्च, आंसू गोले और वॉटर कैनेन का इस्तमाल किया। जिसमें कई छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए।

वहीं इस बिल के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर रोज़ भारी तादाद में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आज ‘नॉट इन माय नेम’ समूह द्वारा आयोजित प्रदर्शन में हज़ारों की संख्या में लोग इक्क्ठा होकर इस बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया।

नागरिक संशोधन बिल में जिस प्रकार से किसी खास समुदाय को अलग कर उसे दोयम दर्ज़े के नागरिक बनाने की बीजेपी सरकार की साज़िश, और इस तुग़लकी फरमान को वहां इक्क्ठा लोगों ने सिरे से खारिज़ किया। और इसके खिलाफ किसी भी हद तक जाने का खुद से वादा किया।

इस बिल के खिलाफ प्रदर्शन में आये साइंटिस्ट और लेखक गौहर रज़ा ने कहा, ‘मोदी सरकार के कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था का बुरा हाल है। जहां सरकारी खजाने को निजी हाथो में बेचा जा रहा है। हमारे पूर्वजों द्वारा कमाई पब्लिक सेक्टर की सम्पतियों को अम्बानी-अडानी के हाथों में बेचा जा रहा है।

रज़ा ने कहा, यह नागरिकता संशोधन बिल अपनी नाकाम आर्थिक नीतियों को छुपाने और पेट भरने के लिए यह कानून लाया गया है। जिससे यह देश इसमें फंस जाये’। गौहर रज़ा ने आगे कहा, बीजेपी सरकार को कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि बंगाली हिन्दू के नाम पर नार्थ ईस्ट के राज्यों में उनके साथ हिंसा हो रही है।

इस बिल की वजह से जो तमाम जगहों पर विरोध हो रहे हैं। उसमे कई लोगों की अबतक जान भी चली गयी है। लेकिन मोदी और बीजेपी सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हिन्दू मर रहा है या मुसलमान जल रहा है, उन्हें तो बस बड़े व्यापारियों के पेट भरने है और अपना रोटी सेंकना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here