markandey katju
Markandey Katju

दोनों सदनों से नागरिकता संशोधन विधेयक के पास होने के बाद पूर्वोत्तर राज्यों में इसका विरोध तेज़ हो गया है। कई जगहों से हिंसा, आगज़नी और तोड़फोड़ की ख़बरें सामने आ रही हैं। पूर्वोत्तर राज्यों में हो रहे इस प्रदर्शन को लेकर पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने केंद्र की मोदी सरकार पर ज़ोरदार हमला बोला है।

उन्होंने असम की तुलना कश्मीर से करते हुए ट्विटर के ज़रिए कहा, “असम भी कश्मीर की तरह जल रहा है। देश में आग लगी है और ये आधुनिक ‘नीरो’ बेखबर हैं। हनुमान जी ने तो सिर्फ लंका जलाई थी, लेकिन ये आधुनिक हनुमान जी तो पूरे भारत में आग लगा देंगे”।  

ग़ौरतलब है कि राज्यसभा ने बुधवार को विस्तृत चर्चा के बाद इस नागरिकता संशोधन विधेयक को पारित कर दिया। सदन ने बिल को प्रवर समिति में भेजे जाने के विपक्ष के प्रस्ताव और संशोधनों को खारिज कर दिया। विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया। इससे पहले सोमवार को लोकसभा में ये बिल 311-80 के बहुमत से पास हो गया था।

गुवाहाटी : BJP की सहयोगी पार्टी के दफ्तर में तोड़-फोड़, गृहमंत्री जी, क्या सच में देश शांत है?

बिल भले ही दोनों सदनों से पास हो गया हो लेकिन इसका विरोध व्यापक तौर पर देखने को मिल रहा है। पूर्वोत्तर राज्यों में तो इस बिल को लेकर बवाल की स्थिति बनी हुई है। इन राज्यों में बिल के खिलाफ़ इस स्तर पर प्रदर्शन हो रहे हैं कि इसे रोकने के लिए आर्मी को तैनात किया गया है।

बता दें कि नागरिकता बिल में पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं अफगानिस्तान में उत्पीड़न के शिकार गैर मुस्लिम शरणार्थियों (जैसे हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों) को आसानी से भारत की नागरिकता दिए जाने का प्रावधान है। जबकि बिल में मुसलमानों के लिए ऐसा कोई प्रावधान नहीं है।

6 साल की आर्थिक बर्बादी से देश 50 साल पीछे चला गया है लेकिन जनता CAB का जश्न मना रही है : पत्रकार

पूर्वोत्तर राज्यों में इस बिल का विरोध इसलिए हो रहे हैं, क्योंकि वहां के मूलनिवासियों को लगता है कि अगर ये इस बिल कानून बन गया तो इसके तहत लाखों शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिल जाएगी। जिससे उनकी पहचान और आजीविका खतरे में आ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here