मोदी सरकार ने अब जाने माने उद्योगपति राहुल बजाज को भी राष्ट्रविरोधी बताना शुरु कर दिया है। राहुल बजाज को राष्ट्रविरोधी इसलिए बताया जा रहा है, क्योंकि उन्होंने दो दिन पहले एक कार्यक्रम में गृह मंत्री अमित शाह के सामने मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना की थी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल बजाज के बयान पर कहा कि उनकी इन बातों से बातों से राष्ट्रीय हित पर चोट लग सकती है। उन्होंने ट्विटर के ज़रिए कहा कि अपनी धारणा फैलाने की जगह जवाब पाने के और भी बेहतर तरीके हैं। ऐसी बातों से राष्ट्रीय हित पर चोट लग सकती है।

अब राहुल बजाज देश के नए ‘एंटीनेशनल’ हो गए हैं, क्योंकि सवाल पूछकर शाह को हर्ट कर दिया है

इसके साथ ही बीजेपी समर्थक और बीजेपी से जुड़े लोगों ने सोशल मीडिया पर सीधे तौर पर राहुल बजाज को एंटी नेशनल कहना शुरु कर दिया है।

राहुल बजाज को एंटी नेशनल कहे जाने पर पत्रकार विनोद कापड़ी ने लिखा- और राहुल बजाज एकदम सही साबित हुए। IT cell काम पर लग गया है। कल परसों से ED , IT काम पर लग जाएंगे।

ग़ौरतलब है कि शनिवार को एक अख़बार के कार्यक्रम में राहुल बजाज ने गृह मंत्री अमित शाह से कहा था कि देश में ऐसा माहौल है कि लोग सरकार की आलोचना नहीं कर सकते।

रोहित सरदाना ने दी GDP गिरने की खबर, लोग बोले- अभी मत दो, जब तुमसे ज्यादा गिर जाए तब बताना

उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी में अमित शाह से कहा कि इस समय ऐसा माहौल है कि लोग सरकार की आलोचना करने से डरते हैं कि पता नहीं उनकी आलोचना को सही से लिया जाएगा या सरकार में बैठे लोग नाराज हो जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इससे पहले की यूपीए-2 में हम सरकार को गाली भी दे सकते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होता। उद्योग जगत में एक तरह से कहा गया है कि किसी को कुछ नहीं बोलना है। ये डर का माहौल ठीक नहीं है।

[adinserter name="Block 5"] [adinserter block="4"]