लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में आज (19 मई) चंदौली में वोटिंग हो रही है। वोटिंग के दौरान ख़बर है कि बीजेपी कार्यकर्ता दलितों को वोट देने से रोक रहे हैं। आरोप है कि दलितों को वोट देने से रोकने के लिए उनकी उंगलियों पर जबरन स्याही लगाई गई है।

मामला ताराजीवनपुर गांव की दलित बस्ती का है। जहां बस्ती के लोगों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है कि उन्हें वोट ना डालने के लिए पैसे दिए गए और जबरदस्ती उनकी उंगली पर मतदान में इस्तेमाल होने वाली स्याही लगायी गई।

इसके साथ दलित बस्ती के लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें वोट न देने के लिए पैसों की पेशकश भी की गई। दलितों ने कहा कि उन्हें 500-500 रुपये दिए गए और वोट न देने के लिए कहा गया।

चंदौली एसडीएम केआर हर्ष ने बताया कि शिकायतकर्ता पुलिस स्टेशन में थे। हम उनकी शिकायत के अनुसार कार्रवाई करेंगे। वहां पर अभी कोई भी वोट नहीं डाल सकता है। मतदान ईवीएम से होता है। उंगली या फिर अंगूठे पर स्याही लगने से मतदान नहीं हो जाता है। शिकायतकर्ता वोट डाल सकते हैं। उन्हें उस एफआईआर में उल्लेख करना होगा कि उन पर स्याही जबरदस्ती लगाई गई थी।

बता दें कि चनाव के अंतिम चरण में देश के 8 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान जारी है। इसमें उत्तर प्रदेश की चंदौली समेत 13 लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। चंदौली लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र कुमार पाण्डेय उम्मीदवार हैं। वही समाजवादी पार्टी से संजय सिंह चौहान इस बार गठबंधन के उम्मीदवार हैं। चुनाव के नतीजे 23 मई को घोषित किये जाएंगे।