सोशल मीडिया पर इस वक्त हैशटैग #AirStrike औऱ #FakeNews ट्रेंड कर रहे हैं। दरअसल भारत के गोदी मीडिया द्वारा 19 नवंबर को पीटीआई के हवाले से कई न्यूज़ चैनलों ने ये फर्जी खबर चलाई कि भारत ने पीओके में एक और एयर स्ट्राइक कर दी है।

दरअसल सोशल मीडिया पर एबीपी न्यूज़ की न्यूज़ एंकर रुबिका लियाकत की एक वीडियो वायरल हो रही है।

जिसमें वह ये दावा कर रही है कि जानकारी ये है कि पीओके के इलाके में आतंकियों के जितने भी लॉन्चिंग पैड्स थे। उन पर भारत ने टारगेटेड स्ट्राइक की है।

इन स्ट्राइक्स में एक एक करके उन तमाम इलाकों को टारगेट किया जा रहा है। एंटी टैंक मिसाइल और आर्टिलरी का इस्तेमाल करके हम कार्रवाई कर रहे हैं। हिन्द की फ़ौज अब एक एक करके बदला ले रही है।

इस बार पाकिस्तान को तरीके से समझा दिया जा रहा है कि खूब हो गई तुम्हारी नौटंकी। अगर तुम कश्मीर में आतंकी घुसपैठ करते हो तो हम उसे सीधा कब्रिस्तान भेजेंगे।

अब भारतीय सेना ने गोदी मीडिया द्वारा चलाई गई फर्जी खबरों का खंडन किया है। इंडियन आर्मी के मिलिट्री ऑपरेशंस के डायरेक्टर जनरल लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह ने कहा कि एलओसी के पार पीओके में भारतीय सेना की कार्रवाई की रिपोर्टें फर्जी हैं।

गौरतलब है कि भारतोय सेना ने स्पष्ट कर दिया है कि उनके द्वारा पीओके पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस मामले में कांग्रेस नेता श्रीनिवास बी वी ने रुबिका लियाकत की फर्जी रिपोर्टिंग की वीडियो शेयर कर लिखा है कि “ये अंधभक्ति वाली पत्रकारिता नही तो क्या ? जपनाम – जपनाम !”

इस साथ ही एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस नेता ने लिखा है कि “शुक्र है वक्त रहते भारतीय सेना ने, BJP-MEDIA की ‘सर्जिकल न्यूज’ को फेक न्यूज साबित कर दिया..! नही तो मोदी भक्तों का जपनाम मंत्र तैयार था..!”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × three =