• 4.5K
    Shares

सूफ़ी संत ख़्वाजा गरीब नवाज़ चिस्ती के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में न्यूज़18 के एंकर अमीश देवगन के ख़िलाफ़ पुलिस मे शिकायत दर्ज कराई गई है। ये शिकायत अजमेर दरगाह की और से दरगाह थाने में दर्ज कराई गई है।

दरगाह से जुड़े संगठन अंजुमन सैयद जादगान के पदाधिकारी व दरगाह दीवान के पुत्र नसीरुद्दीन द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि ख्वाजा गरीब नवाज चिश्ती विश्व प्रसिद्ध सूफी संत हैं, उनकी दरगाह देशवासियों की आस्था का केंद्र है, जहां पर हर धर्म व जाति के लोग आस्था के साथ हाज़री देते हैं। उनके बारे में अमीश देवगन ने अपने शो में अपमानजनक टिप्पणी की है, जिससे धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। इसलिए उनके ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई की जाए।

पुलिस ने शिकायत दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं ख़ुद के ख़िलाफ़ कानूनी शिकंजा कसता देख अमीश देवगन ने माफ़ी मांग ली है। ये माफ़ी उन्होंने ट्विटर के जरिए मांगी है। उन्होंने लिखा, “मेरी 1 बहस में, मैंने अनजाने में चिश्ती के रूप में ‘खिलजी’ का उल्लेख किया। मैं ईमानदारी से इस गंभीर त्रुटि के लिए माफी मांगता हूं और यह सूफी संत मोइनुद्दीन चिश्ती के अनुयायियों के लिए दुख की बात हो सकती है, जिन्हें मैं सम्मान देता हूं। मैंने खुद उनकी दरगाह पर आशीर्वाद मांगा है। मुझे इस त्रुटि पर खेद है”।

बता दें कि अमीश देवगन ने 15 जून को अपने मथुरा-काशी से जुड़े एक कार्यक्रम के दौरान सूफ़ी संत हजरत ख्वाजा मोइनउद्दीन चिश्ती को लुटेरा कहा था। धर्म परिवर्तन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि चिश्ती लुटेरा आया और उसके बाद लोगों ने धर्म परिवर्तन किया। इस दौरान उन्होंने इस वाक्य को कई बार दोहराया। उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। जिसके बाद अमीश देवगन को गिरफ़्तार किए जाने की मांग होने लगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here