चुनावी माहौल की गर्मागर्मी में नेताओं की फिसलती जुबान और बदजुबानी अब आम हो चली है। इसी लिस्ट में अब नया नाम मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता शिवराज सिंह चौहान हैं जिन्होंने सीधे-सीधे सरकारी अधिकारी को धमकी दे डाली।

एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर को धमकी देते हुए कहा कि, “अरे भाई सत्ता के मद में ऐसे चूर मत हो। ये पिट्ठू कलेक्टर, सुन ले रे.. हमारे दिन भी जल्दी आएंगे। तब तेरा क्या होगा।”

15 साल तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान ने जिन अधिकारियों के साथ काम किया अब उन्हीं अधिकारियों को देख लेने की धमकी दे रहे हैं। शिवराज के बयान पर मीडिया भी चुप्पी साधे हुए है। जबकि समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान ने जब कलेक्टर के खिलाफ विवादित बयान दिया था तो पूरा मीडिया उनके पीछे पड़ गया था।

अगर आज़म खान के बयान को मीडिया दिखाता है तो उसे चाहिए कि वो सामान रूप से भाजपा नेताओं के कारनामों को भी दिखाए।