देश के मौसम के साथ साथ अब राजनीतिक दलों का मौसम भी बदलने लगा है। हवा देखकर पाला बदलने वाले रामविलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद चिराग पासवान ने अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ करके बीजेपी को सख्त संदेश देने की कोशिश की है। 

चिराग ने कहा कि राम मंदिर बीजेपी के लिए मुद्दा ज़रूर हो सकता है मगर NDA का मुद्दा सिर्फ विकास है।

अभिनेता से नेता बने चिराग पासवान ने कहा कि राहुल गांधी अच्छा काम कर रहें है मगर इसपर उनको ज्यादा उत्साहित होने की ज़रूरत नहीं है। उन्हें और मेहनत करने की कोशिश करनी पड़ेगी।

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, टीडीपी और रालोसपा के जाने के बाद एनडीए गठबंधन नाजुक मोड़ से गुजर रहा है। ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन में फिलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मान पूर्वक तरीके से दूर करें।

चिराग ने कहा कि गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओ से मुलाक़ात हुई परंतु अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पायी है। इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुकसान भी हो सकता है।

साथ ही उन्होंने बीजेपी के राम मंदिर पर कानून लाने पर कहा कि एनडीए का मुद्दा हमेशा से ‘सबका साथ सबका विकास’ रहा है मैं समझता हूँ की अगर बीजेपी इसपर कानून लाती है तो उसे अपने गठक दलों से बात ज़रूर करनी चाहिए क्योकि मंदिर बीजेपी के घोषणापत्र में है न की NDA के।

चिराग ने कहा कि जहां तक राममंदिर की बात है तो हमें सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार किया जाना चाहिए और जो फैसला आए उसे स्वीकार कर लेना चाहिए।

इससे पहले चिराग पासवान ने पांच राज्यों में बीजेपी की हार पर अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि जब जब बीजेपी राम-हनुमान जैसे मुद्दे को चुनावी मुद्दा बनाती है तो यही परिणाम होते है इसलिए उसे विकास के नाम चुनाव लड़ना चाहिए।

बता दें कि लोकजन शक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान को चुनावी मौसम वैज्ञानिक भी कहा जाता है। क्योंकि इससे पहले पासवान यूपीए का हिस्सा रह चुके है।

अब सवाल उठता है कि क्या पांच राज्यों में बीजेपी को मिली हार से NDA की नाव में छेद हो गया जिससे कुछ सहयोगी यूपीए की नाव की तरफ नज़र बनाए हुए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − five =