बिहार में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (AES) यानि चमकी बुखार से अबतक मरने वालों बच्चों की संख्या 130 के पार पहुँच चुकी है। मगर, राज्य के प्रमुख राजनीतिक दल लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के प्रमुख नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान गोवा में पार्टी कर रहे हैं। जब बिहार की लाचार बच्चों और जनता को उनकी जरुरत है तब ऐसे समय में चिराग को पार्टी करने की सूझ रही है।

चिराग पासवान की सोशल मीडिया पर गोवा में पार्टी करने की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। कांग्रेस की प्रवक्ता राधिका खेरा ने एलजेपी नेताओं के मुज्जफरपुर से गायब रहने पर निशाना साधा है। राधिका ने ट्वीट कर कहा है कि,

“यह हैं मौसम वैज्ञानिक रामविलास पासवान के चिराग। बिहार के जमुई से सांसद चिराग पासवान। हर घंटे मासूम मर रहे हैं और ममता बिलख रही है। पूरा सूबा सिसक रहा है। सैकड़ों घरों के चिराग बुझ गए। उधर नरेन्द्र मोदी के गठबंधन के चिराग गोवा को जश्न के साथ रौशन कर रहे थे। एलजेपी को एक और मंत्रालय तो बनता है।”

राधिका खेरा ने चिराग पासवान की सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरों को शेयर किया है। इन तस्वीरों में टीवी एक्टर विशाल सिंह, अनीता हंसनंदानी, करिश्मा तन्ना समेत एकता कपूर दिखाई दे रही हैं।

वहीं दूसरी तरफ मुज्जफरपुर में सैकड़ों बच्चों की जानें जा रही हैं लेकिन बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे और केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे के गैरजिम्मेदाराना बयान आ रहे हैं। जबकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 दिन बाद अब जाकर अस्पताल का दौरा किया है। हालाँकि उन्हें ये दौरा तब करना चाहिए था जब इसकी बिहार के बीमार बच्चों को सबसे ज्यादा ज़रूरत थी।

राजद नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी यादव ने सोशल मीडिया पर इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए पीएम मोदी और सीएम नीतीश को लेकर कहा है- “क्या 14 वर्ष से राज कर रहे मुख्यमंत्री की हज़ारों बच्चों की मौत पर कोई जवाबदेही नहीं? कहाँ है ग़रीबों के लिए 5 लाख तक के मुफ़्त इलाज की प्रधानमंत्री की आयुष्मान योजना? हम इस नाज़ुक समय में राजनीति नहीं करना चाहते लेकिन ग़रीब बच्चों का समुचित इलाज करना सरकार का धर्म और दायित्व है।