• 4.6K
    Shares

लोकसभा चुनाव का आगाज हो चुका है। पहले चरण के मतदान में मात्र 20 दिन बचे हैं। तमाम राजनीतिक दलों ने उम्मीदवारों के नाम घोषित करने शुरू कर दिए हैं। विपक्षी दल BJP से 2014 में किए वादों का जवाब मांग रहे हैं।

तो सत्ताधारी BJP ‘चौकीदार’ ‘चौकीदार’ खेल रह ही है। प्रधानमंत्री मोदी से लेकर रक्षामंत्री, विदेश मंत्री, कानून मंत्री, वित्त मंत्री और भी बहुत से मंत्री, नेता, कार्यकर्ता, समर्थक ने अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया है।

इन सब के बीच 22 मार्च को न्यूज मैग्जीन कैरवां ने BJP के कुछ ‘चौकीदारों’ का बड़ा खुलासा किया है। कैरवां के रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी के कुछ बड़े-बड़े चौकीदारों ने मिलकर करोड़ों का भ्रष्टाचार किया है।

BJP ने बांटे वरिष्ठ नेताओं के बेटे-बेटियों को ‘टिकट’, क्या मोदी ऐसे लड़ेंगे वंशवाद से ?

कर्नाटक के पूर्व सीएम एवं वरिष्ठ बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा की एक कथित डायरी से खुलासा हुआ है कि उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, मुरली मनोहर जोशी, अरुण जेटली… आदि को करोड़ों रुपए दिए है।

कथित डायरी के मुताबिक, बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक का मुख्यमंत्री बनने के लिए लालकृष्ण आडवाणी को 50 करोड़, राजनाथ सिंह को 100 करोड़, नितिन गडकरी को 150 करोड़, मुरली मनोहर जोशी को 50 करोड़, अरुण जेटली को 150 करोड़, जजों को 250 करोड़, वकीलों को 50 करोड़, नितिन गडकरी के बेटे की शादी में 10 करोड़, बीजेपी सेंट्रल कमेटी को 1000 दिए।

येदियुरप्पा की कथित डायरी का वो पेज जिसे कैरवां ने प्रकाशित किया है

डायरी में तथाकथित रूप से येदियुरप्पा के हस्ताक्षर हैं जो उनकी हैंडराइटिंग से मेल खाती है। डायरी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास अगस्त 2017 से उपलब्ध थी।