भारतीय स्टार फुटबॉलर सुनील छेत्री को उस वक्त अपमानित किया गया जब डूरंड कप की विनिंग ट्रॉफी लेते हुए फोटो सेशन के दौरान पश्चिम बंगाल के गवर्नर ने उन्हें साइड कर दिया. ऐन मौके का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल है. फैंस ने अपने गुस्से का इजहार करते हुए अलग अलग तरीके से प्रतिक्रिया दी है.

मालूम हो कि सुनील छेत्री मौजूदा समय में भारतीय फुटबॉल टीम के सबसे मेधावी फुटबॉलर माने जाते हैं.

पूर्व भारतीय कप्तान बाईचुंग भूटिया के बाद सुनील छेत्री ने ही अपने विशेष प्रदर्शन के बदौलत वैश्विक स्तर पर भारतीय फुटबॉल को नई ऊंचाई पर लेकर गए हैं.

उनकी तुलना आज के समय में अर्जेंटीना के मशहूर फुटबॉलर मेसी और पुर्तगाल के जाने माने फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो से की जाती है.

सुनील छेत्री की कप्तानी में पहली बार बेंगलुरु एफसी ने मुंबई सिटी एफसी को हराकर खिताब अपने नाम किया. इस मुकाबले को बेंगलुरु एफसी ने 2-1 से अपने नाम किया.

बेंगलुरु एफसी की तरफ से शिवा शक्ति और ब्राजीलियन फुटबॉलर एलेन कोस्टा ने गोल किए. जबकि मुंबई सिटी एफसी के लिए एकमात्र गोल अपुईया ने दागा. प्राइज सेरेमनी के दौरान सुनील छेत्री की तरह शिवा शक्ति भी ऐसी निंदनीय घटना के शिकार हुए.

इस वीडियो को ट्विटर पर साझा करते हुए पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने इसे बहुत ही शर्मनाक करार दिया है.

बेंगलुरु एफसी की जीत के बाद जब प्राइज मनी और ट्रॉफी का वितरण किया जा रहा था तब इस मौके पर सुनील छेत्री ट्रॉफी लेने स्टेज पर पहुंचे.

इस ट्रॉफी को बंगाल के राज्यपाल द्वारा दिया जाना था. हाथ में ट्रॉफी लेकर फोटो खिंचाते हुए बंगाल के गवर्नर ला गणेशन अय्यर ने सुनील छेत्री का हाथ पकड़ कर किनारे कर दिया.

इस घटना के वीडियो के वायरल होने के बाद फैंस की बहुत तीखी प्रक्रिया रही. जिसके बाद लोगों ने उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल कर दिया. इस घटना के बाबत अभी बंगाल के राज्यपाल की सफाई आनी बाकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here