भाजपा शासित प्रदेशों और केंद्र की मोदी सरकार गोभक्त होने का ढिंढोरा तो पीट रही है, लेकिन बेसहारा गोवंशों के खून को सड़कों पर बहने रोक नहीं पा रही है। भूख-प्यास से बेदम इन बेजुबानों के सड़क पर भटकने से इंसानों की जान भी जा रही है। ताजा मामला मध्य प्रदेश का जहां दो हिंदूवादी नेता ‘गाय की राजनीति’ का शिकार हो गए हैं।

राजगढ़ ज़िले के खुजनोर रोड पर गोवंश और कार की टक्कर से दो हिंदूवादी नेताओं की मौत हो गई है। वहीं एक गंभीर रूप से घायल है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रविवार देर रात बजरंग दल के विभाग सहसंयोजक लेखराज सिसोदिया, हिंदू जागरण मंच के जिला महामंत्री लखन नेजर और राहुल जोशी आई20 कार में सवार होकर राजगढ़ से खुजनेर रोड पर सफर कर रहे थे।

बरखेड़ा गांव के पास कार ने पहले सड़क पर मौजूद दो गोवंशों को तेज टक्कर मारी और फिर नियंत्रण खोते हुए सड़क किनारे मौजूद एक कुएं में जा गिरी। इस दौरान गाड़ी चला रहा राहुल जोशी कार से कूद गया लेकिन दोनों नेता फंसे रह गए।

घायल राहुल जोशी । फोटो क्रेडिट- दैनिक भास्कर

घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। क्रेन और जेसीबी की मदद से करीब 5 घंटे की मशक़्क़त के बाद कार को कुएं से बाहर निकाला गया। लेकिन तब तक दोनों नेताओं की मौत हो चुकी थी। कार से कूदने वाले राहुल जोशी का दोनों पैर टूट गया है और सिर में गंभीर चोट आयी है।

No description available.
फोटो क्रेडिट- दैनिक भास्कर

गाय की राजनीति करने वाले संगठनों और राजनीतिक दलों के लिए ये चेत जाने का वक्त है। ये राजनीति सिर्फ मुसलमानों के लिए खतरनाक नहीं है। समाज का लगभग हर वर्ग इससे परेशाना है। छुट्टा घूमते इन मवेशियों से किसान समुदाय तो त्रस्त हो चुका है।

घटना की जानकारी शेयर करते हुए काशिफ नाम के एक पत्रकार ने लिखा है, यह एक आम घटना है जो हर रोज़ बड़ी संख्या में होती हैं और कईयों की जान जाती है। MP में हाइवे पर होनेवाले एक्सीडेंट ज्यादातर गायों की वजह कर होते हैं। अगर किसी एक्सीडेंट में गाय चोटिल हो जाए तो यही बजरंग दल/हिन्दू सेना जैसी संस्था के लोग चालक से मार पीट के साथ कथित वसूली भी करते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 1 =