• 40K
    Shares

बुलंदशहर में हुई घटना को लेकर कई नए ख़ुलासे सामने आ रहे हैं। अब इस घटना का एक और वीडियो सामने आया है, जिससे यह साबित होता है कि हिंसा को जानबूझकर साज़िश के तहत भड़काया गया।

पत्रकार विनोद कापड़ी ने इस वीडियो को अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया है। जिसमें गाय काटने वाले का नाम साफ़ तौर पर सुनाई पड़ रहा है। जब लोग आपस में बात करते हुए पूछते हैं कि गाय किसने काटी है तो एक युवक कहता है कि गाय कुंदन ने काटी है।

इस एक मिनट पांच सेकंड के वीडियो में दंगाई पुलिस को ताबड़तोड़ गालियों के साथ चुनौती देते हुए नज़र आ रहें है। साथ ही वीडियो में दंगाई यह भी कह रहे हैं कि यहां ज्यादा फ़ोर्स नहीं है चिंता की कोई बात नहीं है।

बुलंदशहर हिंसा का वीडियो हुआ वायरल, क्या दंगाइयों ने गहरी साज़िश के तहत काटी थी गाय ?

विनोद कापड़ी ने लगातार कई ट्वीट्स कर कुंदन की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए पुलिस से उसका पता लगाने की मांग की है। कापड़ी ने दावा किया कि इस घटना को गहरी साज़िश के तहत अंजाम दिया गया है। पुलिस चाहे तो कुंदन के ज़रिए साज़िशकर्ताओं तक आसानी से पहुंच सकती है।

इस वीडियो के सामने आने के बाद अब घटना को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि जब प्रदर्शनकारियों को गाय काटने वाले का नाम पता था तो फिर FIR में उसका नाम क्यों नहीं दर्ज कराया गया।

FIR में सातों नाम मुसलमानों के ही क्यों लिखाए गए। दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने भी इस घटना को लेकर सत्ताधारी बीजेपी को कटघरे में खड़ा किया है।

जबतक देश की जनता गाय-गोबर, हिंदू-मुस्लिम पर ‘मूर्ख’ बनती रहेगी तबतक सरकारें कुछ नहीं करेंगी : ध्रुव गुप्त

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “तो क्या भाजपा वालों ने ख़ुद गाय काट कर फेंकी, ख़ुद अपने गुंडे भेज कर दंगा करवाया और फिर पुलिस वाले को मरवा दिया”?

बता दें कि बुलंदशहर की स्याना तहसील में सोमवार की सुबह कथित गोवंश हत्या के खिलाफ प्रदर्शन कर रही भीड़ की पुलिस से हिंसक भिड़ंत हो गई थी।

इसमें भीड़ ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी थी और पुलिस चौकी में आग लगा दी थी। मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जा चुका है।