न्यूज़ चैनल के नाम पर दिन भर तमाशा चलाने वाले रिपब्लिक भारत और उसके सह मालिक अर्णब गोस्वामी की मुसीबत बढ़ने वाली है। टीआरपी मामले में धोखाधड़ी जैसे अपराधिक करतूत के आरोपी अर्णब गोस्वामी को अब किसी भी वक्त गिरफ्तार किया जा सकता है। क्योंकि अर्णब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक पर “चीटिंग” के केस दर्ज हो गए है और मुंबई पुलिस उनके पीछे पड़ गई है।

जानें क्या है मामला-

दरअसल देश में TV चैनलों की TRP एक संगठन BRC देखता है, इसके लिए उसने एक “हंसा रिसर्च एजेंसी” को TRP के आंकड़े संग्रह करने का ठेका दिया है। इसके लिए उन्होंने पूरे देश में अलग-अलग शहरों में लगभग 30 हजार उपभोक्ताओ के यहां People meters लगा रखे हैं। जिनमे से अकेले मुंबई में ही 2000 हाउसहोल्ड उपभोक्ताओ के यहां मीटर लगाये थे।

Republic.भारत ने लॉन्च होते ही उगले जहरीले बोल, रोहिणी बोलीं- देश में ‘दंगा’ कराने की शुरूआत हो चुकी है

अब हंसा ने FIR दर्ज करवाई थी कि उनके पूर्व कर्मचारियो ने उनके इस Confidential हाउसहोल्ड पब्लिक मीटर की जानकारी बेचीं थी कि किन किन व्यक्तिओ के यहां मीटर लगे हैं। इसके बाद तीन चैनलों, जिसमे रिपब्लिक TV शामिल है, ने इन उभोक्ताओ को पैसे देकर तय किया कि पूरे दिन आपको हमारा चैनल चलाना है जिससे पब्लिक मीटर में हम सबसे आगे दिखेंगे।

सवाल मोदी सरकार से करो लेकिन जवाब गोदी मीडिया के एंकर देते हैं, लोग बोले- ये रिश्ता क्या कहलाता है?

जांच के बाद हंसा रिसर्च एजेंसी के पूर्व कमर्चारियो को गिरफ्तार किया गया, जिसमे पता लगा की तीन चैनल ने चीटिंग करके TRP के डाटा का मिसयूज किया. जिसमे दो छोटे चैनल हैं, जिनके मालिकों को गिरफ्तार कर लिया है. अब अगला नम्बर अर्णब गोस्वामी का है।

इस मामले पर अब यह देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी सरकार के करीबी माने जाने वाले अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी होगी या नहीं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 3 =