उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज की अभी दो दिन पहले ही पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए अजीत कुमार आजाद की अंतिम यात्रा में हाथों को लहराती हुई तस्वीरें सामने आई थीं। जिसके बाद साक्षी महाराज और उनकी पार्टी पर शहीदों के जनाज़े पर सियासत करने के आरोप लगे।

लोगों ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी अपनी सियासत चमकाने के लिए शहीदों के जनाज़े को भी नहीं बक़्श रही। बीजेपी के नेता शहीदों की अंतिम यात्रा को पार्टी के रोड शो की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं। बीजेपी नेताओं के इसी रवैये से लोगों में नाराज़गी है। लोगों की यह नाराज़गी अब मेरठ में देखने को मिली।

जहां पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सेना की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन में शहीद हुए मेरठ के सिपाही अजय कुमार की अंतिम यात्रा में शरीक हुए बीजेपी नेताओं को शहीद के परिजनों के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा।

शहीद के घर पहुंचे BJP नेताओं का परिजनों ने किया विरोध, कहा- हमारे बेटे शहीद हो रहे हैं और सरकार मौज कर रही है

दरअसल, मंगलवार सुबह 11 बजे जब शहीद अजय कुमार का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव बसा टिकरी पहुंचा तो शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए बीजेपी के विधायक संगीत सोम और केंद्रीय मंत्री सतपाल भी उनके घर पहुंचे। बीजेपी नेताओं को देखकर शहीद के परिजनों का ग़ुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने बीजेपी नेताओं का विरोध करते हुए उन्हें खरी-खोटी सुनाना शुरु कर दिया।

शहीद के परिजनों ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी अपना ग़ुस्सा निकाला। परिजनों ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस बार मोदी को वोट न करें। इसके साथ ही परिजनों ने केंद्र की मोदी सरकार से नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा कि हमारे बेटे शहीद हो रहे हैं और नेता दिल्ली में बैठे मौज ले रहे हैं।

पुलवामा में फिर 4 जवान हुए शहीद, पत्रकार बोले- उधर ‘शहादत’ जारी है इधर ‘भाषण’ जारी है

बता दें कि मंगलवार की सुबह पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद अजय कुमार की अंतिम यात्रा शुरू हुई। अजय कुमार की शव यात्रा में बड़ी तादाद में लोगों ने शिरकत की और नम आंखों से शहीद को अंतिम विदाई दी। शव यात्रा में केंद्र व प्रदेश सरकार के कई मंत्री और बड़े नेता मौजूद रहे। इस दौरान लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − 13 =